कोटा नगर निगम ने तुगलकी फरमान लिया वापस, बाहरी छात्रों पर लगाया था टैक्स

नई दिल्ली ( 23 नवंबर ): राजस्थान के कोटा में मेडिकल और इंजीनियरिंग की कोचिंग के लिए जाने वाले बाहरी छात्रों पर नगर निगम ने टैक्स लगाने का फैसला किया था। इस फैसले के मुताबिक नगर निगम को छात्रों से 1000 रुपये टैक्स वसूल करना था, लेकिन छात्रों की ओर से बढ़ते विरोध के कारण राजस्थान सरकार को फैसला वापस लेना पड़ा।

दरअसल 20 नवंबर को हुई नगर निगम राज्य समिति की एक बैठक में छात्रों से टैक्स वसूलने का निर्णय लिया गया था। जहां नगर निगम शहर में सफाई के लिए पैसा जुटाने के लिए कोचिंग संस्थानों, प्राइवेट कॉलेज और स्कूलों पर नया टैक्स थोप रही थी। बैठक में कहा गया था कि नगर निगम कोचिंग संस्थानों के जरिए छात्रों से एंट्री टैक्स लेगी। जहां प्रत्येक छात्र को हर साल 1000 रुपये देने होंगे।

बता दें, कोटा में हर साल लगभग सवा लाख बाहरी छात्र तैयारी करने आते हैं जिसमें से 80 हजार बिहार से आते हैं। लेकिन महज एक दिन के भीतर राजस्थान सरकार को ये फैसला वापस लेना पड़ा।