500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद सेक्सवर्करों की चांदी

कोलकाता (12 नवंबर): 500 और 1000 के नोट के बंद होने के बाद देशभर पैसों के लिए हाहाकार मचा है। बाजार में अचानक नोटों की कमी हो गई है। बाजार में भीड़ कम हो गई। लोग किसी तरह से अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। लेकिन कोलकाता के सोनागाछी में रौनक बढ़ गई। यहां काम करने वाली सेक्स वर्कर्स की आमदनी अचानक बढ़ गई है। दरअसल यहां की यौनकर्मियों ने 500 और 1000 के पुराने नोट स्वीकार करने का निर्णय लिया है। उनका कहना है कि आप इस सप्ताह तक आइए, उनकी सेवा लीजिए, उसके बाद वो पुराने नोट लेने को तैयार हैं। इस घोषणा के बाद ग्राहकों की संख्या बढ़ गई है। 

सेक्स वर्कर्स के लिए काम करने वाली दरबार महिला समन्वय कमेटी की भारती ने बताया कि जो हाइप्रोफाइल सेक्स वर्कर्स हैं, उन्हें दिक्कत नहीं हो रही है, लेकिन जो कम पैसे के लिए काम करती हैं, उन्हें समस्या आ रही है। खासकर, जो छोटे ग्राहकों से 300-400 वसूलती हैं। उनके पास गाहक नहीं आ रहे हैं। पिछले दो दिनों से उन्हें काफी दिक्कत हो रही है। उन्होंने बताया कि यहां आने से पहले ग्राहक यही पूछ रहे हैं कि आप पांच सौ या हजार के पुराने नोट लेंगे या नहीं। इसके बाद ही आगे की सौदेबाजी होती है। सेक्स वर्कर ने बताया कि हमारे पास और कोई चारा नहीं है। हमारी मजबूरी है कि हम पुराने नोट स्वीकार करें। अन्यथा हमारे सामने आर्थिक संकट आ जाएगा। हमें खाने को भी लाले पड़ जाएंगे।

उषा मल्टीपर्पस कॉपरेटिव बैंक के अधिकारियों के अनुसार सोनागाछी इलाके से पिछले दो दिनों में 55 लाख से भी अधिक रुपये जमा करवाए गए हैं। उन्होंने ये भी बताया कि आम तौर पर सेक्स वर्कर नकद पैसा ही रखती हैं। लेकिन नोट बंद हो जाने के बाद उनकी समस्या बढ़ गई है।