SHOCKING : रोटी मिलने में देर होने पर ढाबा कर्मी को खौलते पतीले में फेंका, मौत

कोलकाता (14 मई) :  सड़क किनारे ढाबे पर काम करने वाले एक कर्मचारी पर ग्राहक को इतना गुस्सा आया कि उसे खौलती हुई तरी के बड़े पतीले में धक्का दे दिया। 42 वर्षीय कर्मचारी ललन सिंह की गुरुवार को अस्पताल में मौत हो गई। जिस जगह ये घटना हुई वो लालबाज़ार में कोलकाता पुलिस हेडक्वाटर्स से कुछ ही दूरी पर स्थित है।

मूल रूप से मुजफ्फरपुर, बिहार का रहने वाला ललन सिंह कोलकाता में ढाबे पर नौकरी कर रहा था। ललन सिंह को पतीले में डालने वाले मोहम्मद ज़ाकिर को गिरफ्तार कर लिया गया। ज़ाकिर इस ढाबे पर अक्सर आता था। बीते रविवार शाम को ज़ाकिर ढाबे पर पहुंचा। मछली करी की क्वालिटी को लेकर ज़ाकिर ने पहले ललन को बुरा भला कहा। ज़ाकिर ने चावल ख़त्म करने के बाद रोटी लाने के लिए कहा। इस पर ललन ने कहा कि रोटी बनने में वक्त लगेगा। आरोप के मुताबिक ज़ाकिर को इस बात पर इतना गुस्सा आया कि उसने ललन को खौलती हुई तरी के पतीले में धक्का दे दिया।

ललन का चेहरा, पेट और टांग बुरी तरह झुलस गया। ललन को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। आज (शनिवार) सुबह ललन ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस घटना में सोमवार को हरे स्ट्रीट पुलिस ने ज़ाकिर को सोमवार को गिरफ्तार किया था लेकिन उसी दिन ज़मानत पर रिहा कर दिया गया था। ललन के दम तोड़ने के बाद ज़ाकिर को दोबारा गिरफ्तार कर लिया। उसे अब 7 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।