कोलकाता: 10 मिनट तक खतरे में पड़ गई थी 25,000 यात्रियों की जान

नई दिल्ली(8 अप्रैल):कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र इंटरनेशनल एयरपोर्ट का एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) का कम्युनिकेशन सिस्टम गुरुवार को कुछ देर के लिए बाधित हो गया। एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) के साथ कुछ एयरक्राफ्ट का कम्युनिकेशन सिस्टम उड़ान के दौरान ही फेल हो गया था। खबरों के मुताबिक इस दौरान एयर ट्रैफिक कंट्रोल लगभग 300 विमानों से संपर्क नहीं कर पाया। 

इन हवाईजहाज़ों में करीब 25 हज़ार लोग सवार थे और 10 मिनट के लिए उन सबकी जान खतरे में पड़ चुकी थी। मल्टीपल रडार और VHF रेडियो करीब 1 घंटा 40 मिनट के लिए ठप्प रहे, ऐसे में 35 कंट्रोलर ने मोबाइल फोन के जरिए सभी नज़दीकी ATCs से संपर्क किया ताकि हवा में मौजूद जहाज़ों को उनके बीच के फासले को जानकारी दी जा सके।

एटीसी ने दावा किया है कि यह कम्युनिकेशन में सिर्फ एक छोटी सी खराबी भर थी। हालांकि, इस खामी को दुरुस्त होने में दो घंटे लग गए। एक कंट्रोलर के मुताबिक 'जो भी हुआ वह एक बुरे सपने की तरह था। यहां तक की लैंडलाइन भी काम नहीं कर रहा था। लेकिन हमने नागपुर और वाराणसी के एटीसी से संपर्क किया ताकि वह पायलट तक सूचना पहुंचा सके।

डीजीसीए ने क्या कहा?

- डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) और एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) के मुताबिक, "पूरे मामले की जांच कराई जाएगी।"

- "हमारी स्क्रीन्स पर कोलकाता एयर ट्रैफिक रीजन ब्लैंक डिस्प्ले हो रहा था। कोलकाता भारत का करीब-करीब आधा एयर ट्रैफिक कंट्रोल करता है।"

- ऑफिशियल्स के मुताबिक, "6 सेकंडरी सर्विलांस रडार और उनकी मदद करने वाले 6 अन्य इक्विपमेंट्स में गड़बड़ी आ गई थी।"

- "जो 3 रडार काम कर रहे थे, उनमें से एक कोलकाता एयरपोर्ट, एक 24 परगना के बाडु और एक ओडिशा के बरहामपुर में था।"