कुंबले के कोच बनने के बाद टेस्ट कप्तान कोहली का आया बड़ा बयान

नई दिल्ली(24 जून): भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार अनिल कुंबले की नए मुख्य कोच पद पर नियुक्ति का स्वागत किया और कहा कि वह इस महान लेग स्पिनर के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं। कोहली ने कुंबले को एक साल के लिए मुख्य कोच नियुक्त किए जाने के बाद ट्वीट किया कि अनिल कुंबले सर आपका हार्दिक स्वागत है। हमारे साथ आपके कार्यकाल को लेकर उत्साहित हूं। आपके साथ रहते हुए भारतीय क्रिकेट के लिये बहुत अच्छी चीजें होंगी।

कोच बनने पर अनिल कुंबले ने कहा कि हितों के टकराव के मसले पर बीसीसीआई के साथ चर्चा हुई थी और भारतीय क्रिकेट टीम में आधिकारिक तौर पर पद संभालने से पहले इसे सुलझा दिया जाएगा। कुंबले खेल और परामर्शदात्री कंपनी टेनविच से जुड़े हैं जिससे उनके हितों के टकराव की बात सामने आई है। कुंबले से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम पहले ही इस पर चर्चा कर चुके हैं। मेरे पद संभालने से पहले जो कुछ भी जरूरी होगा वह किया जाएगा। इस पर चर्चा हुई थी और बीसीसीआई के साथ भी इस बारे में स्पष्ट किया गया है। यह ऐसा है जिसे आसानी से सुलझाया जा सकता है।

इस दिग्गज स्पिनर ने अपने आवास के बाहर मीडिया से बातचीत में लगातार यह सवाल पूछे जाने पर भी नाखुशी जताई। उन्होंने इसकी तुलना उस नाम से की जो तब मीडिया ने उन्हें दिया था जब वह खेलते थे। कुंबले ने कहा कि जब भी मेरा जिक्र होता है तो यह टकराव वाला शब्द मेरे नाम से जोड़ दिया जाता है। मैं 18 साल तक देश के लिए खेला हूं। जब मैं खेलता था तो मुझे राधाकृष्णन के रूप में बीच का नाम दिया गया। मुझे नहीं पता कि यह नाम कहां से आया।कुंबले ने कहा कि जब मैंने संन्यास लिया तो ‘टकराव’ मेरा बीच का नाम बन गया। मैंने बीसीसीआई से बात की है। जो भी जरूरी होगा हम करेंगे। बीसीसीआई ने भी इस पर इसी तरह की नाखुशी व्यक्त की। बोर्ड सचिव अजय शिर्के ने कहा कि हितों का टकराव फैशनेबल शब्द बन गया है। फैसला लेने से पहले इस पर गौर कर लिया गया था।