जानें कौन था AMU छोड़कर आतंकी बनने वाला मन्नान

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 अक्टूबर): जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों ने एक बड़े ऑपरेशन के दौरान हिज्बुल मुजाहिदीन के 3 आतंकियों को मार गिराया। इसमें अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) का पूर्व छात्र और रिसर्च स्कॉलर मन्नाव वानी भी शामिल था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मन्नान हिज्बुल का स्थानीय कमांडर भी था।

भूगर्भ शास्त्र के रिसर्च स्कॉलर मन्नान बशीर वानी ने साल के शुरुआत में ही पढ़ाई छोड़कर हिज्बुल मुजाहिदीन का दामन थाम लिया था। इसके बाद उसे कुपवाड़ा में कमांडर बनाया गया था। उधर फेसबुक पर राइफल के साथ मन्नान की तस्वीर वायरल होने पर उसे यूनिवर्सिटी से निष्काषित कर दिया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वह 5 जनवरी को ही हिज्बुल में शामिल हो गया था।

मन्नान पिछले पांच साल से एएमयू से पढ़ रहा था। वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के ताकिपोरा गांव का रहने वाला था। मन्नान को उसके घरवाले आगे की पढ़ाई के लिए यूएस भेजने की तैयारी कर रहे थे जिसके लिए वह बहुत ज्यादा उत्साहित था लेकिन उसके आतंकी संगठन में शामिल होने की खबर के बाद से घरवाले निराश थे और वापसी की उम्मीद लगाए बैठे थे।

वहीं आपोक बता दें कि घरवालों की उससे आखिरी बार 4 जनवरी को बात हुई थी। जब मन्नान ने अपने भाई को परिवार के साथ पुरानी तस्वीरें भेजी थीं। उसके बाद उसका फोन बंद हो गया। उसने उसका फेसबुक अकाउंट भी बंद कर दिया।

खबरों के मुताबिक जनवरी में ही मन्नान एएमयू से कश्मीर आ गया था। इसके बाद उसके आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़ने की खबर आई थी। मन्नान के हिज्बुल जॉइन करने के बाद से ही सुरक्षा एजेंसियों को उसकी तलाश थी।