55 साल तक मौत को मात देते रहे स्टीफन, जानें रोचक तथ्य

नई दिल्ली (14 मार्च): दुनिया के मशहूर वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का 76 साल की उम्र में निधन हो गया, लेकिन डॉक्टर ने उनकी उम्र ज्यादा से ज्यादा 25 साल बताई थी। जब वो 21 साल के थे तो एक दिन सीढियों से उतरते समय वे बेहोश हो गए। शुरू में डॉक्टर ने इसे कमजोरी के कारण होने वाली साधारण सी बेहोशी बताया, लेकिन बार-बार ऐसा होने पर ठीक से चेक अप करवाने पर पता चला की वह एक ऐसी बीमारी के शिकार है जो कभी ठीक नही हो सकती। उन्हें neuron motor disease नामक एक बीमारी है। जिसमे धीरे- धीरे शरीर के सारे अंग काम करना बंद कर देते है और अंत में सांस नली भी बंद हो जाती है और व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है।

डॉक्टर ने स्टीफन को 2-4 साल का महमान बताया। हालांकि उसी समय उन्होंने कहा की वह 50 साल अभी और जिएंगे। इस बात पर उनके सभी दोस्तों ने उनका दिल रखने के लिए उनकी हां में हां मिला दिया, क्योंकि वो भी स्टीफन की इच्छा शक्ति को पहचान नहीं पाए थे।

स्टीफन ने जो कहा वो कर दिखाया और उस बीमारी के साथ ही उन्होंने अपनी पीएचडी पूरी की व शादी भी की। तब तक उनके शरीर के दाहिने हिस्से ने काम करना बंद कर दिया था, लेकिन यह वो समय था जब उन्होंने विज्ञान की दुनिया में कदम रखा तो अपने शोधों से दुनिया में प्रसिद्ध होने लगे। धीरे-धीरे शरीर ने साथ देना छोड़ दिया, लेकिन दिमाग पूरी तरह से एक्टिव रहा और वो रुके नहीं।

हॉकिंग से जुड़ी कुछ खास बातें... - हॉकिंग चल फिर नहीं सकते थे और हमेशा वील चेयर पर रहते थे। वह कम्प्यूटर और तमाम डिवाइसों के जरिए अपने शब्दों को व्यक्त करते थे। - स्टीफन हॉकिंग ने स्वर्ग की परिकल्पना को सिरे से खारिज करते हुए इसे अंधेरे से डरने वाली कहानी बताया था। हॉकिंग ने कहा था कि हमारा दिमाग एक कम्प्यूटर की तरह है जब इसके पुर्जे खराब हो जाएंगे तो यह काम करना बंद कर देगा। - साल 1998 में प्रकाशित हुई स्टीफन हॉकिंग की किताब 'अ ब्रीफ हिस्ट्ररी ऑफ टाइम' ने पूरी दुनिया में तहलका मचाया था। इस किताब में उन्होंने ब्रह्मांड विज्ञान के मुश्किल विषयों जैसे 'बिग बैंग थिअरी' और ब्लैक होल को इतने सरल तरीके से बताया कि एक साधारण पाठक भी उसे आसानी से समझ जाए। इस किताब की लाखों प्रतियां हाथों-हाथ बिक गई। - बीते साल ही स्टीफन हॉकिंग ने यह चेतावनी दी थी कि धरती पर जिस तेजी से आबादी और ऊर्जी की खपत बढ़ रही है, उस तरह से 600 सालों से भी कम समय में यह धरती आग का गोला बन जाएगी। - स्टीफन हॉकिंग के पीएचडी शोधपत्र को सार्वजनिक करने के कुछ ही दिनों में इसे दुनियाभर के 20 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा था। 1966 में किया गया शोध इतना लोकप्रिय हुआ कि इसे जारी करते ही कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी की वेबसाइट ठप हो गई थी। - हॉकिंग एक टाइम मशीन बनाना चाहते थे। उन्होंने एक बार कहा था कि अगर उनके पास टाइम मशीन होती तो वह हॉलिवुड की सबसे खूबसूरत अदाकारा मानी जाने वाली मर्लिन मुनरो से मिलने जाते। - 1974 में हॉकिंग ने भाषा की छात्रा जेन विल्डे से शादी की थी। हालांकि, दोनों के तीन बच्चे होने के बाद 1999 में तलाक हो गया। इसके बाद हॉकिंग ने दूसरी शादी की।