जानिए कौन है बिहार की मधुमिता, जिन्हें गूगल ने दिया 1 करोड़ का सैलरी पैकेज

नई दिल्ली (08 मई): गूगल ने अपने स्विट्जरलैंड ऑफिस में पटना की रहने वाली मधुमिता शर्मा को नौकरी दी है। खास बात ये है कि उन्हें टेक्निकल सोल्यूशन इंजीनियर पद पर नौकरी के लिए 1 करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया है। मधुमिता को ये नौकरी हासिल करने के लिए इंटरव्यू के सात राउंड क्लियर करने पड़े, जो कि नवंबर से जनवरी के बीच आयोजित किए गए थे।

सोमवार को अपनी नई नौकरी को मधुमिता ने गूगल के स्विट्ज़रलैंड स्थित ऑफिस में टेक्निकल सोल्युशन इंजीनियर के तौर पर ज्वॉइन भी कर लिया है। गूगल में नौकरी शुरू करने के पहले वे बेंगलुरु में एपीजी कंपनी में काम कर रही थीं। उनके पिता के मुताबिक हाल के दिनों में उन्हें अमेज़ॉन, माइक्रोसॉफ़्ट और मर्सिडीज़ जैसे कंपनियों से भी ऑफ़र मिला था। 

आज उनके पिता मधुमिता की कामयाबी का जश्न मना रहे हैं। पटना से सटे खगौल इलाक़े में इस परिवार की चर्चा हो रही है, लेकिन एक समय ऐसा था जब उनके पिता उन्हें इंजीनियरिंग की पढ़ाई कराने के लिए तैयार नहीं थे। सुरेंद्र कुमार शर्मा याद करते हैं, "शुरुआत में मैंने कहा था कि इंजीनियरिंग का फील्ड लड़कियों के लिए नहीं है। लेकिन फिर मैंने देखा कि लड़कियां भी बड़ी संख्या में इस फील्ड में आ रही हैं। इसके बाद मैंने उससे कहा कि चलो एडमिशन ले लो।"इसके बाद मधुमिता ने जयपुर के आर्या कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नॉलॉजी से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। उनका बैच था 2010-2014। इसके पहले बारहवीं तक की पढ़ाई उन्होंने पटना के डीएवी, वाल्मी स्कूल से की। 

एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक मधुमिता के पिता सत्येंद्र कुमार आरपीएफ के असिस्टेंट सिक्योरिटी कमिश्नर हैं और उनकी मां चिंता देवी गृहणी हैं। मधुमिता का कहना है कि उनका एक बड़ी कंपनी में काम करने का सपना था। उन्होंने बताया कि पिछले साल उन्होंने भारत और विदेश में कई कंपनियों के लिए अप्लाई किया था और ऑनलाइन टेस्ट भी दिया था। उसके बाद उन्हें 24 लाख, 23 लाख, 18 लाख के पैकेज का ऑफर मिला था।