News

'टीम से अंदर-बाहर होते रहना आसान नहीं होता'

खराब फॉर्म के चलते टेस्ट टीम से अपना जगह गवा चुके केएल राहुल (kl rahul) ने टी-20 में शानदार वापसी की है। भारत और वेस्टइंडीज (ind vs wi) के बीच खले गए टी-20 सीरीज में केएल राहुल (kl rahul) ने ओपनिंग करते हुए भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई। राहुल को चोटिल शिखर धवन (shikhar dhawan) की जगह ओपनिंग करने का मौका मिला था।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 दिसंबर): खराब फॉर्म  के चलते टेस्ट टीम से अपना जगह गवा चुके केएल राहुल (kl rahul) ने टी-20 में शानदार वापसी की है। भारत और वेस्टइंडीज (ind vs wi) के बीच खले गए टी-20 सीरीज में केएल राहुल (kl rahul)  ने ओपनिंग करते हुए भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई। राहुल को चोटिल शिखर धवन (shikhar dhawan) की जगह ओपनिंग करने का मौका मिला था। राहुल इसे दोनों हाथों से लपका। आखिरी और निर्णायक मुकाबले में केएल राहुल ने 56 बॉल में 91 रन बनाए। 

इस दौरान उन्होंने अपने जोड़ीदार रोहित शर्मा (rohit sharma) के साथ पहले विकेट के लिए 135 रन की साझेदारी निभाई और इसके बाद तीसरे विकेट के लिए कप्तान विराट कोहली (kohli) के साथ वह पारी के अंतिम ओवर तर क्रीज पर थे। विराट को साथ भी राहुल ने आउट होने से पहले 95 रन की अहम साझेदारी निभाई। राहुल, रोहित और विराट की शानदार बैटिंग की बदौलत टीम इंडिया ने सीरीज के इस निर्णायक मैच में वेस्ट इंड़ीज को 67 रन से मात दी।

निश्चित रूप से केएल राहुल के यह आसान परिस्थिति नहीं रही होगी, क्योंकि वह बीते कुछ समय से लगातार टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं। टीम में वापस आते ही उनसे शानदार परफॉर्मेंस की आस की जाती है। इस सवाल पर राहुल ने कहा, 'मैं यह नहीं कहूंगा कि मैं यह (दबाव) बिल्कुल महसूस नहीं करता। निश्चितरूप से, टीम से अंदर-बाहर होते रहना किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान नहीं होता।'

राहुल ने कहा, 'आप इंटरनैशनल स्तर पर और किसी भी विरोधी टीम के खिलाफ दबाव झेलने के लिए थोड़ा-बहुत समय लेते हैं और ऐसी कोई भी विरोधी टीम नहीं है, जिनके खिलाफ आप बैटिंग पर आएं और आसानी रन बना दें, इसलिए यह हमेशा मुश्किल होता है। यह खेल कॉन्फिडेंस पर टिका है, जब कोई अच्छे फॉर्म में और अच्छी लय में हो तब वह टीम से बाहर बैठकर सिर्फ तैयारी नहीं कर सकता।'

यह भी पढ़ें: दूसरे वेडिंग एनिवर्सरी पर विराट ने अनुष्का को दिया स्पेशल गिफ्ट

सीरीज खत्म होने बाद अपनी शानदार फॉर्म पर बात करते राहुल ने कहा, 'मेरे विचार बहुत साधारण हैं। मैं उतनी ज्यादा मेहनत करना पसंद करता हूं, जितनी मैं कर सकता हूं, मैं घंटों तक नेट्स में बिताता हूं। जब मैं फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलता था, तब मैं अपनी क्षमताएं बेहतर बनाने पर काम करता था और क्रीज पर वक्त बिताने का प्रयास करता था। दोबारा जब मुझे यही अवसर मिला, मैंने यही दोहराने का प्रयास किया।'


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top