मिसाइल परीक्षण के दूसरे दिन किम जोंग उन ने अमेरिका को हड़काया

नई दिल्ली (23 जून): नॉर्थ कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग उन ने अमेरिका जैसे देशों को जवाब देने वाले हथियार अब उनके पास मौजूद हैं। किम जोग उन ने इस अवकर पर अपने वैज्ञानिकों की प्रशंसा भी की। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार  मैसडॉन मिसाइल के परीक्षण खुद निगरानी करने वाले किम ने कहा कि यह एक बड़ा अवसर है, जिसने खतरे की स्थिति में अपनी ओर से पहले परमाणु हमला करने की, उत्तर कोरिया की क्षमता को बढ़ाया है। किम जोंग उन ने कहा है कि पैसिफिक सी में अमेरिकियों पर  हमला करने के लिए हमारे पास सुनिश्चित क्षमता है।

मैसडॉन की क्षमता 2500 से 4000 किलोमीटर के बीच की है। न्यूनतम दूरी के तहत दक्षिण कोरिया और जापान इसकी जद में आते हैं जबकि उपरी सीमा के तहत गुआम स्थित अमेरिकी सैन्य अड्डे इसकी पहुंच में आ जाते हैं। हाल के महीनों में मिली कुछ विफलताओं के बाद उत्तर कोरिया ने कल दो मैसडॉन मिसाइलों का परीक्षण किया। इनमें से एक जापान सागर में 400 किलोमीटर तक उड़ी। केसीएनए ने कहा कि मिसाइल को उंचे कोण पर दागा गया था ताकि वह अपनी अधिकतम दूरी तक जा सके। वह अधिकतम 1400 किलोमीटर की उंचाई तक गई। एजेंसी ने कहा, ‘इस प्रायोगिक परीक्षण का आयोजन सफलतापूर्वक कर लिया गया और इससे आसपास के देशों की सुरक्षा पर कोई असर नहीं पड़ा।’