अय्याशी के लिए सनकी ने सुंदर लड़कियों को बनाया सेक्स स्लेव

नई दिल्ली (22 सितंबर): अमेरिका को खाक में बदलने और जापान को एटम बम से समंदर में डुबाने की धमकी देने वाले सनकी तानाशाह के बारे में एक ऐसा खुलासा हुआ है, जिसने इंसानियत को शर्मसार कर दिया है। उत्तर कोरिया के इस तानाशाह की गंदी नजर अपने ही मुल्क की सुंदर लड़कियों पर है। किम जोंग सुंदर लड़कियों के साथ जो सुलूक करता है उसे सुनकर आप कांप उठेंगे।

ये उत्तर कोरिया का वो कड़वा सच है जिसने इंसानियत को शर्मसार कर दिया है। सनकी तानाशाह उत्तर कोरिया के ढाई करोड़ लोगों को अपना गुलाम समझता है। किम जोंग सबसे गंदी नजर मुल्क की सुंदर लड़कियों रहती है। वो अपने मुल्क की सुंदर लड़कियों को अपनी जागीर समझता है। उन्हें अपने हरम में शामिल होने के लिए मजबूर करता है। ये खुलासा खुद उत्तर कोरिया के नर्क लोक से बचकर भागी एक महिला ने किया है। कुछ साल पहले ही प्योंगयांग छोड़कर दक्षिण कोरिया जा चुकी एक महिला ने खुलासा किया है कि सुंदर लड़कियों को किम की सेक्स स्लेव यानी गुलाम बनाया जाता है। खूबसूरत स्कूली लड़कियों को घसीटकर किम के पास ले जाया जाता है और लड़कियों को किम जोंग को खुश रखने की बकायदा ट्रेनिंग दी जाती है।

26 साल की ये महिला एक आर्मी कर्नल की बेटी है। सुरक्षा कारणों से इस महिला की पहचान का खुलासा नहीं किया गया है और इसे काल्पनिक नाम येओं लिम दिया गया। लिम ने मीडिया को बताया कि उसे बचपन से ही सिखाया गया था कि किम जोंग के किसी भी फैसले पर सवाल नहीं करना है। लिम के मुताबिक, 'मैं जिस क्लास में पढ़ती थीं। वहां से सबसे खूबसूरत लड़कियों को चुना जाता था और फिर उन्हें किम जोंग उन की सेक्स स्लेव बनने को कहा जाता था। लड़कियों को क्लास से घसीटकर ऐसी जगहों पर ले जाया जाता था, जहां उनका कोई पता न लगा सके। ये लड़कियां किम को अच्छा खाना परोसती थीं और अगर ऐसा करने में कोई भी गलती हुई तो लड़कियों को गायब कर दिया जाता था। अगर कोई लड़की प्रेगनेंट हो जाए तो भी उसे गायब कर दिया जाता था।'

मतलब, अपने ही मुल्क की खूबसूरत लड़कियों को सनकी तानाशाह सेक्स स्लेव बनाता था। उन्हें अपनी जागीर की तरह इस्तेमाल करता था। लिम का दावा है कि प्योंगयांग में लोग मजबूरी में किम जोंग उन का समर्थन करते हैं। क्योंकि, उनके पास कोई दूसरा चारा नहीं है। किम जोंग का आदेश नहीं मानने वालों को गोलियों से सरेआम भून दिया जाता है। लिम ने दावा किया कि वो अपनी आंखों के सामने 11 म्यूजिशंस की हत्या को देखकर इतनी डर गईं कि मां और भाई के साथ दक्षिण कोरिया भाग आई।

म्यूजिशंस को पॉर्नोग्रफिक फिल्म बनाने के आरोप में सजा दी जा रही थी। उन्हें बाहर लाया गया, बांधा गया और मुंह बंद कर दिए गए, जिससे उनकी आवाज नहीं निकल सके। उन्हें कोड़े मारते हुए ऐंटी-एयरक्राफ्ट गन्स के पास ले जाया गया। उस दिन 10000 लोगों को आदेश दिया गया था कि उन्हें यह हत्या देखनी है। मैं पीड़ितों से सिर्फ 200 मीटर की दूरी पर ही खड़ी थी। बंदूक चली, आवाज बहरा कर देने जैसी थी। म्यूजिशंस अचानक गायब हो गए। उनका शरीर जलकर टुकड़ों में बंट चुका था। वे पूरी तरह खत्म हो चुके थे। हर तरफ सिर्फ खून और शरीर के चिथड़े उड़ते दिख रहे थे। इसके बाद सेना के टैंक आए और उन चिथड़ों को कुचलते हुए आगे चले गए।

सनकी तानाशाह छोटे जुर्म की सजा भी मौत देता है। अपने ही मुल्क के लोगों को एंटी एयरक्राफ्ट गन्स से भुनवा देता है। खुद अय्याश किम जोंग उत्तर कोरिया की सुंदर लड़कियों की जिंदगी तबाह कर रहा है। अपनी मौज-मस्ती के लिए सुंदर लड़कियों को सेक्स स्लेव बना रहा है। वहां के ढाई करोड़ लोगों की मजबूरी ये है कि वो इस अय्याश तानाशाह के खिलाफ गुहार लगाएं तो किससे? मुंह खोलें तो कैसे? क्योंकि, उत्तर कोरिया में किम के खिलाफ आवाज उठाने की सजा मौत है।