किडनी रैकेट का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, हुआ बड़ा खुलासा

राहुल प्रकाश, नई दिल्ली (7 जून): दिल्ली के नामी अस्पताल में किडनी का काला धंधा करने वाला जो रैकेट पकड़ा गया था। उसका आरोपी मास्टरमाइंट राजकुमार कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले में अब नया खुलासा हुआ है। पता चला है कि इस गिरोह का जाल विदेश तक फैला हुआ था।

देश की राजधानी दिल्ली में नामी अस्पताल में जब गुर्दा बेचने के गोरखधंधे का खुलासा हुआ तभी ये साफ हो चुका था। इस नेटवर्क का जाल बहुत लंबा है। दिल्ली पुलिस ने अब इस मामले में तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है। अब तक हुई आठ गिरफ्तारियों से नए खुलासे सामने आए हैं। 

पहला खुलासा हुआ है कि दिल्ली के अपोलो अस्पताल में गुर्दा गैंग की पहुंचे एमएस के दफ्तक तक थी। क्योंकि किडनी ट्रांसप्लांट की सारी कागजी प्रक्रिया MS ऑफिस के जरिए ही पूरी होती थी। तो सवाल उठ रहा है कि क्या एमएस के दफ्तर तक किडनी गैंग के गुर्गों का जाल फैला हुआ था। 

दिल्ली पुलिस की जांच के मुताबिक देश की राजधानी में ये रैकेट काफी लंबे वक्त से अपने काले कारनामों को अंजाम दे रहा था। बताया जा रहा है कि इस रैकेट का नेटवर्क श्रीलंका और इंडोनेशिया तक फैला हुआ था। 

ये बात भी सामने आई है कि दिल्ली के इस गुर्गां गैंग का दलाल राजकुमार कई डोनर को भारत के बाहर ले जाकर उनकी किडनी निकलवा चुका है। दिल्ली पुलिस की दो टीमें कोलकता और चेन्नई में राजकुमार की तलाश में छापेमारी कर रही हैं।