इलाहाबाद: अकाउंट में ट्रांसकर कराई फिरौती, फिर अपहरण करने वाले ने साथियों को ही मार डाला

इलाहाबाद (11 अगस्त): अखिलेश यादव के राज में बदमाशों के हौसले कितने बुलंद है, यह इस खबर से साफ पता चलता है। एक अफसर का रात को 8 बजे अपहरण कर लिया जाता है और फिर 10 लाख की फिरौती लेकर उसे छोड़ दिया जाता है। लेकिन उससे भी चौंकाने वाली खबर यह है कि अपराधियों ने फिरौती की रकम को एक अकाउंट में ट्रांसफर कराया।

पुलिस ने चालाकी दिखाते हुए अपराधियों को हिरासत में तो ले लिया है, लेकिन इस मामले में जो खुलासा हुआ है, वह वाकई में हैरान करने वाला है।

क्या था मामला: - 8 अगस्त को रात लगभग 8 बजे अब्दुल सलीम फरीदी का सहारागंज लखनऊ के सामने से सफ़ेद स्कोर्पियो में अपहरण हो जाता ,है जिसमें एक लड़की भी शामिल थी। - अगले दिन 10 लाख की मांग फरीदी के मोबाइल से उनके लड़के के पास आती है। - STF में यह केस अरविंद चतुर्वेदी को दिया गया, लोकेशन इलाहबाद निकलती है। - शाम 4 बजे अपहरणकर्ताओं द्वारा बताए गए अकाउंट में 10 लाख रुपये ट्रान्सफर किए गए। - रात 9 बजे फरीदी को मलाका, फाफामऊ के निकट छोड़ दिया गया। - अगले दिन इलाहबाद में एक लड़के और एक लड़की की अलग-अलग जगह पर डेड बॉडी मिली। - उनकी पहचान अपहरणकर्ता संदीप सिंह और नीतू सिंह के रूप में होती है। - जिस अकाउंट में पैसे डाले गए थे, उससे कैश निकलने की बात HDFC बैंक से पता चली। - एसटीएफ टीम लगातार एटीएम कार्ड की जानकारी रख रही थी। - अचानक शाम 5.45 बजे 6200 रूपये का एक ट्रांसेक्शन अपडेट हुआ एक स्पा में। - खोज में पता चला यह स्पा लखनऊ एयरपोर्ट पर पाया गया।

ऐसे पकड़े गए आरोपी... पेमेंट संदीप गुप्ता ने किया, जो 6 बजे की गोएयर-396 फ्लाइट से मुंबई जा रहा है। - फ्लाइट रन-वे पर जा चुकी है। तुरंत फ्लाइट को रोकने का आदेश दिया गया। - एसटीएफ व लखनऊ पुलिस ने प्लेन से 2 संदिग्धों को उतरा। - मोहम्मद इमरान और जीतेश नाम के इन लोगों के पास से मृतक संदीप का HDFC कार्ड बरामद हो गया। - इमरान ने अपने साथियों जीतेश और जमील आदि के साथ पहले फरीदी से 10 लाख रुपये संदीप के अकाउंट में ट्रान्सफर कराए और फिर नीतू और उसको मार दिया। - संदीप और नीतू की ज्वेलरी भी इमरान की जेब से बरामद हुई।