अंधविश्वास : जलते अंगारों पर गिरा मासूम...!!!

जालंधर (14 जून): क्या आस्था के नाम पर कोई अपने बच्चे की जिंदगी से खेल सकता है ? क्या अंधविश्वास किसी के ऊपर इतना हावी हो सकता है कि एक पिता अपने बच्चे को गोद में लेकर मौत के अंगारों पर चलने लगे? आपको इन बातों पर विश्वास नहीं होगा, लेकिन जो तस्वीर आज हम आपको दिखाने जा रहे हैं, उन्हें देखकर आपको पता चलेगा कि अंधी आस्था में विश्वास रखने वाले क्या कर सकते हैं। 

पंजाब के जालंधर में एक ऐसा मंदिर है जहां अग्नि परीक्षा होती है। आस्था के नाम पर यहां सैंकड़ों लोग अपने बच्चों को लेकर जलते अंगारों पर चलते हैं। लेकिन 12 जून को इस मंदिर में एक हादसा हो गया। बच्चे को गोद में लेकर चल रहे एक शख्स का बच्चा अंगारों पर गिर गया जिसके चलते वो मासूम बुरी तरह से जल गया। 

मासूम का जालंधर के अस्पताल में इलाज चल रहा है। अंधविश्वास का आलम ये है कि लोग दावा कर रहे हैं कि वो शख्स शराब  के नशे में अंगारों पर चला था इसलिए देवी मां ने उसे सजा दी है। लोग कहते हैं कि देवी के सामने परीक्षा देते हैं। 

मन्नत मांगने के लिए लोग यहां अंगारों पर चलते हैं जिसके पैर जल जाते है उसे पापी मान लिया जाता है और पैर जलने को उसके किसी पाप जैसे शराब पीने, मांस खाने या दूसरे किसी पाप की सजा समझा जाता है। फिलहाल पिता-पुत्र को अस्पताल पहुंचाया गया है जहां दोनों का इलाज चल रहा है। 

देखिए न्यूज़24 की रिपोर्ट...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=j8HXhQnbWjo[/embed]