कोहली करेंगे धोनी-युवराज की किस्मत का फैसला

नई दिल्ली (1 अगस्त): रवि शास्त्री जहां विराट को बड़ा कप्तान मानते हैं, वही दूसरी तरफ टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान रहे एमएस धोनी और सिक्सर किंग युवराज सिंह के खिलाफ अभी से माहौल बनाया जा रहा है। टीम इंडिया के चीफ सेलेक्टर का मानना है कि धोनी-युवराज को लेकर सही समय पर सही फैसला लिया जाएगा और ये फैसला कप्तान कोहली के साथ रवि शास्त्री लेंगे।

दरअसल धोनी और युवराज पर एक के बाद एक बयान आ रहे हैं। टीम इंडिया के चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने धोनी-युवराज को लेकर ये कहा है कि सही समय पर सही फैसला लिया जाएगा। चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद का कहना है कि दोनों खिलाड़ियों को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। भविष्य में धोनी और युवराज पर सही समय पर ही फैसला लिया जाएगा। विश्व कप को लेकर टीम में तालमेल बैठाना कप्तान कोहली और कोच रवि शास्त्री पर निर्भर करता है।

प्रसाद ने साफ कर दिया है कि टीम इंडिया के इन दो दिग्गजों की किस्मत का फैसला अब विराट कोहली के साथ रवि शास्त्री करेंगे। हम आपको बता दें कि धोनी के साथ रवि शास्त्री का हमेशा से छत्तीस का आंकड़ा रहा है। रवि शास्त्री युवराज की जगह भी युवा चेहरों को मौका देने के पक्ष में हैं। हालांकि धोनी और युवराज के लिए राहत की बात ये है कि कप्तान विराट कोहली धोनी को टीम में बनाए रखना चाहते हैं। साथ ही कई मौकों पर विराट युवराज सिंह की भी जमकर तारीफ कर चुके हैं। चैंपियंस ट्रॉफी में भी लीग मुकाबले के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ युवराज के बल्ले का जोर देखने को मिला था और फिर विराट ने मैदान पर युवराज की तारीफ की थी।

मीडिल ऑर्डर में युवराज का अनुभव जहां विराट को फायदेमंद लग रहा है, वही कप्तानी में धोनी की सलाह विराट कोहली की जरुरत हैं। टेस्ट में विराट कोहली भले ही शानदार कप्तानी कर रहे हैं, लेकिन क्रिकेट के छोटे फॉर्मेट में विराट कोहली को धोनी की सलाह की जरुरत पड़ती है कि क्रिकेट के छोटे फॉर्मेट में फैसले जल्दी-जल्दी लेने पड़ते हैं।

अब देखने वाली बात ये होगी कि आने वाले समय भारतीय क्रिकेट के दो सबसे बड़े खिलाड़ी का करियर किसके फैसले पर निर्भर करता है। वैसे दोनों ही दिग्गज 2019 का वर्ल्ड कप खेलना चाहते हैं।