पत्रकार खशोगी हत्याकांड से खतरे में प्रिंस सलमान का ताज, सऊदी फैमिली में बगावत के सुर

Image credit: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21नवंबर): पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड में सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। जानकारी के मुताबिक अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA ने जहां  वाशिंग्टन पोस्ट के लिए लिखने वाले सऊदी पत्रकार की हत्या में प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का हाथ होना बताया है वहीं इस हत्याकांड को लेकर  सऊदी राज परिवार में भी घमासान तेज हो गया है। खाशोगी मर्डर के बाद सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की गद्दी खतरे में पड़ सकती है। दरअसल, सऊदी अरब की रॉयल फैमिली के कुछ मेंबर ही उन्हें किंग बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं।

Image credit: Google

गौरतलब है कि वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खगोशी 2 अक्टूबर को तुर्की के इस्तांबुल में स्थित सऊदी अरब के दूतावास गए, लेकिन वहां उनकी हत्या कर दी गई थी। द वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक सीआईए की जांच के मुताबिक सऊदी अरब के 15 एजेंट सरकारी विमान से इस्तांबुल पहुंचे थे और उन्होंने सऊदी अरब के दूतावास में खशोगी की हत्या की। बताया जा रहा है कि वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार खशोगी अपनी तुर्क मंगेतर से शादी करने के वास्ते आवश्यक दस्तावेज हासिल करने के लिए दूतावास गए थे।


आपको बता दें कि सऊदी अरब के नागरिक रहे खशोगी वॉशिंगटन पोस्ट के लिए लिखते थे। उनके सऊदी के शाही परिवार से अच्छे रिश्ते थे, लेकिन बीते कुछ महीनों से वे प्रिंस सलमान के खिलाफ लिख रहे थे। हत्या के इस मामले से संबंध रखने वाले कुल 21 अधिकारियों को हिरासत में रखा गया है। इनमें से 11 का नाम जांच के दौरान सामने आया था। 'हाऊस ऑफ सऊद' कई प्रिंस से मिलकर बनता है। यहां राजा के बड़े बेटे को राजा बनाने की प्रथा नहीं है। राज परिवार का नियम है कि राजा और उनके विभागों के प्रमुख उस व्यक्ति को चुनते हैं, जो राजा के बाद राजा बनता है। सऊदी सूत्रों ने बताया कि अमेरिका के सीनियर अधिकारियों ने सऊदी के सलाहकारों से कहा है कि यदि प्रिंस अहमद राजा बनते हैं तो वह उन्हें समर्थन देंगे। प्रिंस अहमद 40 साल से डेप्युटी इंटीरियर मिनिस्टर रहे हैं। क्राउन प्रिंस के रेस में भी उनका नाम आगे था। अमेरिकी सूत्रों ने बताया खशोगी की हत्या में क्राउन प्रिंस का हाथ होने और अमेरिकी सांसदों के दबाव के बावजूद अमेरिका क्राउन प्रिंस से दूरी बनाने को लेकर जल्दबाजी में नहीं है।