गरीबों को नाश्ते में केसरिया हलवा और गुलाब चूरमा देगी राजस्थान की 'अन्नपूर्णा'

नई दिल्ली (5 अप्रैल): मोदी और योगी की बढ़ती लोकप्रियता से प्रेरित होकर भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री कुछ न कुछ ऐसा करने की कोशिश कर रहे हैं जिससे उनकी छबि जनलोकप्रिय नेता की बन सके।  तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन की तर्ज पर राजस्थान में शुरू हुई अन्नपूर्णा रसोई में अब जल्द ही केसरिया हलवा और गुलाब चूरमा का स्वाद भी चखने को मिलेगा। सूरज की तपिश बढ़ने के साथ ही अन्नपूर्णा रसाई के मीनू में बदलाव किया जा रहा है और इसके तहत अब जल्द ही 70 व्यंजनों के नाम जुड़ने वाले हैं।पिछले साल 15 दिसंबर से शुरू हुई अन्नपूर्णा रसाई में जयपुर समेत 12 जिलों में 75 रसोई वैनों से सस्ता खाना मुहैया कराया जा रहा है। अन्नपूर्णा रसोई वैन में 8 रुपए में खाना तथा 5 रुपए में नाश्ता दिया जाता है। योजना के आगाज के समय से अन्नपूर्णा रसोई वैन पर बाजरे की खिचड़ी, लहसुन की चटनी और बेसन गट्टे की सब्जी के साथ अन्य व्यंजन परोसे जा रहे थे लेकिन अब गर्मी के मौसम में आम रस चावल, पुदीना चटनी और पोहे जैसे व्यंजन शामिल किए गए हैं।अन्नपूर्णा रसोई के मीनू में अब नए व्यंजन जुड़ने वाले हैं। अन्नपूर्णा रसोई से अनुबंधित फर्म के सूत्रों के अनुसार 5 रुपए के नाश्ते और 8 रुपए के खाने की थाली में 70 व्यंजन परोसे जाएंगे हैं।