केरल मंदिर हादसे में बड़ा खुलासा...

नई दिल्ली(10 अप्रैल): केरल के कोल्लम जिले में स्थित पुत्तिंगल मंदिर में रविवार सुबह आग लगने से वहां तबाही मच गई। इस हादसे में 80 से ऊपर लोगों की मौत हो गई है और 200 से ऊपर लोग घायल हो गए हैं। अब इस हादसे में बड़ा खुलासा हुआ है। 

यह खुलासा हुआ 

- निर्धारित सीमा से ज्यादा बारुद का इस्तेमाल किया गया।

- बारुद को अवैध तरीके से दफ्तर में रखा गया।

- मंदिर का दफ्तर गिरने से कई लोग  दबे।

- 4 गुना ज्यादा बारुद का इस्तेमाल किया गया।

वहीं इस पूरे मामले में कोल्लम मंदिर प्रशासन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

कब हुआ हादसा?

यह हादसा सुबह 3.30 बजे के करीब हुआ। बताया जा रहा है कि इस मंदिर में दर्शन के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ मौजूद थी। कार्यक्रम के दौरान यहां आतिशबाजी हो रही थी, तभी मंदिर के एक हिस्से में आग लग गई और देखते ही देखते आग इतनी भयानक हो गई कि लोगों को बचकर निकलने का मौका तक नहीं मिला।

आग लगने के बाद वहां भगदड़ मच गई। बता दें कि केरल में 4 दिन बाद नए साल का उत्सव मनाया जाना है। नए साल से पहले यहां पूजा का आयोजन होता है और उसी सिलसिले में बड़ी संख्या में मंदिर में श्रद्धालु इकट्ठा हुए थे। केरल के सीएम ओमन चांडी मौके पर रवाना हो गए हैं।