CM केजरीवाल की निजी स्कूलों को चेतावनी, कहा-मनमानी फीस बढ़ाने पर होगी कार्रवाई

नई दिल्ली (15 दिसंबर): फीस बढ़ोत्तरी के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शिक्षा विभाग को पूरी स्थित की समीक्षा कर के तत्काल कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी स्कूल फीस बढ़ोत्तरी को ले कर किसी भी छात्र को परेशान नहीं कर सकती है। उन्होंने कहा कि किसी भी मामले यदि पाया जाता है कि स्कूल फीस बढ़ोत्तरी के नाम पर मनमानी कर रहे हैं तो सरकार सख्त कदम उठाने में संकोच नहीं करेगी। सीएम ने कहा कि सातवें वेतन आयोग की आड़ लेकर दिल्ली के स्कूल अभिभावकों से अधिक पैसे की वसूली नहीं कर सकते।

मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग को मामले की जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। रिपोर्ट के लिए सात दिन का समय दिया गया है। मुख्यमंत्री ने साफ किया है कि यदि यह पाया जाता है कि कोई स्कूल फीस बढ़ोत्तरी में मनमानी कर रही है है तो सख्त कार्रवाई से परहेज नहीं किया जाएगा। आवश्यकता हुई तो सरकार इन स्कूलों ऑडिट भी करा सकती है।

अक्टूबर में दिल्ली सरकार ने डीडीए की जमीन पर चल रहे मान्यता प्राप्त गैर-वित्त पोषित निजी स्कूलों को सीपीसी की सिफारिशों को लागू करने के लिए 'अंतरिम' उपाय के तौर पर फीस में 15 प्रतिशत की वृद्धि की अनुमति दे दी थी। 

केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'पूरी दिल्ली के अभिभावकों ने पिछले दिनों मुझसे मुलाकात की और स्कूलों द्वारा सातवें वेतन आयोग (की सिफारिशों) को लागू करने के लिए एरियर सहित बहुत अधिक फीस की मांग किए जाने की शिकायत की। इस पर विराम लगना चाहिए। मैंने शिक्षा विभाग को पूरी स्थिति की समीक्षा करने और इसे रोकने के लिए तत्काल कदम उठाने का निर्देश दिया है।

Parents from all over Del have met me in last few days wid complaints that schools r demanding v high fee including arrears to implement 7th Pay Commission. This must stop. I have directed Edu Dept to review the whole situation n to take immediate steps to stop this(1/2)

— Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal) December 14, 2017