कटनी हवाला कांड के आरोपी की संदिग्ध मौत, 90 करोड़ के ट्रांजेक्शन का था आरोप

कटनी(22 फरवरी): कटनी हवाला कांड के एक आरोपी कोयला व्यापारी संतोष गर्ग की मंगलवार को हरिद्वार में संदिग्ध मौत होने की खबर है। उस पर अपने ही कर्मचारी अमर दहायत के नाम से कंपनी बनाकर फर्जी खाता खुलवाने का आरोप था।

- एक्सिस बैंक में खोले गए इस खाते से आठ साल में 90 करोड़ रु. का ट्रांजेक्शन हुआ। पुलिस ने उस पर 10 हजार रुपए का इनाम रखा था। फर्जी खाता खुलवाने का खुलासा तब हुआ जब आयकर विभाग ने अमर को नोटिस भेजा था।

   

   

- नोटबंदी के दौरान हवाला कारोबार का खुलासा होने पर पुलिस ने अमर की शिकायत पर संतोष के खिलाफ 22 दिसंबर 2016 को एफआईआर दर्ज की थी। तब से ही संतोष फरार था।

   

- कटनी पुलिस के मुताबिक उसकी तलाश में कई ठिकानों पर छापेमारी की गई थी, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला था।

   

- संतोष की गिरफ्तारी से पुलिस को फर्जी फर्मों से हवाला और कोल कारोबारियों द्वारा किए जा रहे फर्जीवाड़े को लेकर कई अहम सुराग हाथ लग सकते थे, लेकिन अब इस संभावना पर पानी फिर सकता है।

   

- ताज्जुब की बात यह है कि कटनी पुलिस के पास संतोष गर्ग की मौत की कोई अधिकृत सूचना भी नहीं है।

   

- इस बारे में जब पुलिस मुख्यालय में पदस्थ वरिष्ठ अफसर को इस घटनाक्रम से अवगत कराया गया तो उन्होंने कहा कि यदि ऐसा है तो संतोष गर्ग के शव का पोस्टमार्टम कराने हरिद्वार पुलिस से संपर्क किया जाएगा।