उन्नाव और कठुआ को लेकर 49 नौकरशाहों ने पीएम से जताई नाराजगी, दिए ये सुझाव

नई दिल्ली (16 अप्रैल): उन्नाव और कठुआ मामले में 49 रिटायर्ड नौकरशाहों ने प्रधानमंत्री को खुला पत्र लिखकर सरकार से नाराज़गी जताई है। पत्र में कड़े शब्दों में कठुआ और उन्नाव मामलों की निंदा की गई है और कहा है कि सरकार मूलभूत जवाबदेही तक निभाने में असफल रही है।

इस पत्र के ज़रिए पूर्व नौकरशाहों ने पीएम मोदी को कठुआ और उन्नाव मामलों पर सुझाव भी दिए हैं। जिसमें उन्होंने पीएम मोदी को पीड़ित परिवारों से मांफी मांगने का सुझाव दिया है। साथ ही गुनहगारों को जल्द से जल्द सज़ा दिलवाने को लेकर कदम उठाने को भी कहा है।

पूर्व नौकरशाहों ने दलित, मुसलमान और बाकी अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को विशेष सुरक्षा देने का भी सुझाव दिया है। अपने पत्र में पूर्व नौकरशाहों ने पीएम मोदी को नफरत फैलाने की घटनाओं में शामिल लोगों को सरकार से तुरंत हटाने का सुझाव दिया है। इसके अलावा एक सर्वदलीय बैठक बुलाकर नफरत के माहौल से निपटने के तरीके खोजने का सुझाव भी दिया गया है।

वहीं पूर्व नौकरशाहों के पत्र के बाद बीजेपी की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। बीजेपी ने साफ कर दिया है कि पीएम मोदी भी आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की बात कर रहे हैं और इस मामले में सरकार कड़े कदम उठाएगी।