कश्मीरी युवाओं को गुमराह कर रहे हैं प्रतिबंधित पाक और सऊदी चैनल्स

श्रीनगर (5 मई): घाटी में कई प्राइवेट केबल ऑपरेटर घड़ल्ले से भारत में प्रतिबंधित पाकिस्तानी और सऊदी अबर के चैनल्स को दिखा रहे हैं। बताया जा रहा है कि प्राइवेट केबल ऑपरेटर्स चोरी छुपे यहां लोगों को ये चैनल्स दिखा रहा है। इतना ही नहीं घाटी में लगातार हो रही हिंसा और पत्थबाजी को उकसाने में इन पाकिस्तानी और सऊदी टीवी चैनलों की बड़ी भूमिका है।


खबरों के मुताबिक, कश्मीर में प्राइवेट केबल नेटवर्क से पाकिस्तान और सऊदी के 50 से ज्यादा चैनल चल रहे हैं। इतना ही नहीं इनमें विवादित मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक का पीस टीवी भी शामिल है। ये चैनल कट्टरवादी विचारधारा को फैलाने का काम कर रहे हैं और लोगों को भड़का रहे हैं।


एक रिपोर्ट के मुताबिक कश्मीर में तमाम बड़ी सैटेलाइट टीवी सर्विस मौजूद हैं। इसके बावजूद ज्यादातर स्थानीय लोग प्राइवेट केबल को ही प्राथमिकता देते हैं। एक केबल ऑपरेटर ने बताया कि पाकिस्तानी और सऊदी चैनल होने के कारण अकेले श्रीनगर में ही 50 हजार से ज्यादा प्राइवेट केबल कनेक्शन हैं। प्राइवेट केबल पर पीस टीवी, सऊदी सुन्नाह, सऊदी कुरान, अल अरेबिया, पैगाम, जियो न्यूज, डॉन न्यूज जैसे कई पाकिस्तानी और सऊदी चैनल चलाए जा रहे हैं।


ये चैनल सूचना प्रसारण मंत्रालय की तरफ से देश में प्रतिबंधित हैं। इनमें से कोई भी चैनल देश के बाकी हिस्सों में नहीं दिखाए जाते हैं। पूरे मामले पर केंद्रीय सूचना प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर का कहना है कि अगर ऐसी कोई बात है तो वहां के संबंधित जिलाधिकारी पूरे मामले को देखेंगे और उचित कार्रवाई करेंगे।