गिलगित-बाल्टिस्तान पर ना'पाक' प्लान अलगाववादी नेताओं को भी नामंजूर



श्रीनगर (17 मार्च): जम्मू-कश्मीर में भी गिलगित और बाल्टिस्तान को अगल राज्य घोषित करने के पाकिस्तान के नापाक इरादे का विरोध शुरू हो गयाहै।अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारुक और मोहम्मद यासीन मलिक ने भी पाकिस्तान के इस मंसूबे का विरोध किया है। गिलगिट-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान का पांचवां राज्य बनाने के प्रस्ताव के खिलाफ गिलानी, मीरवाइज फारुक और यासीन मलिक ने ज्वाइंट स्टेटमेंट जारी किया।

हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और जेकेएलएफ के मोहम्मद यासीन मलिक ने संयुक्त बयान में कहा, पाकिस्तान का यह प्रस्ताव कतई मंजूर नहीं है। इन लोगों का कहना है कि जम्मू-कश्मीर की भौगोलिक स्थिति को बदलने का पाकिस्तान को कई हक नहीं है।


कश्मीरी अवाम की रायशुमारी के बिना किसी भी तरह का विभाजन और परिवर्तन मंजूर नहीं होगा। इन लोगों का कहना है कि पाकिस्तान को सूझबूझ से काम लेते हुए गिलगित-बाल्टिस्तान संबंधी प्रस्ताव को वापस लेना चाहिए, ताकि जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक और भौगोलिक स्थिति पर इसका प्रतिकूल असर न पड़े। उम्मीद है पाकिस्तान इसे वापस लेगा।