पाकिस्तान ने कबूला सच, विदेश मंत्री कुरैशी ने कश्मीर को माना इंडियन स्टेट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(10 सितंबर): पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में कश्मीर का मसला उठाया है। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि कश्मीर में संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन किया जा रहा है। यूएनएचआरसी मानवाधिकार उल्लंघन पर ध्यान दे, हम संयुक्त जांच समिति के गठन की मांग करते हैं। 

वहीं पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर को भारत का हिस्सा माना है। UNHRC में पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर भारत का राज्य है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट खुलकर सामने आ रही है। वह हर मुमकिन मंच पर भारत को घेरने की कोशिश कर रहा है। लेकिन हर बार उसे मुंह की खानी पड़ रही है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री भी बात-बात में सच बोल बैठे, उनके बयान का एक वीडियो भी सामने आया है।

उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा, 'भारत दुनिया को यह दिखाना चाहता है कि कश्मीर में जीवन फिर से सामान्य हो गया है। अगर ऐसा है तो वह भारत के जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय मीडिया, एनजीओ और सिविल सोसाइटीज को जाने क्यों नहीं दे रहा, ताकि वे वहां का हाल देख सकें।'

पाक विदेश मंत्री ने यूएनएचआरसी से कहा कि कश्मीर भारत का आतंरिक मुद्दा नहीं है। कश्मीर में कब्रिस्तान जैसी खामोशी छाई हुई है। वहां नरसंहार किया जा रहा है। पाक ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों के मूलभूत अधिकारों को भारत द्वारा रौंदा गया है। वहां के लोग लगातार मौलिक स्वतंत्रता के उल्लंघनों का शिकार हो रहे हैं।कुरैशी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में 7 से 10 लाख सेना है। पिछले छह सप्ताह में भारत ने जम्मू-कश्मीर को दुनिया का सबसे बड़ा कैदखाना बना दिया है। वहां जरूरी वस्तुएं भी उपलब्ध नहीं हैं। UNHRC में पाकिस्तान ने कहा कि कश्मीर में 6 हजार से ज्यादा नेता, सामाजिक कार्यकर्ता, स्टूडेंट्स गिरफ्तार किए गए हैं।