अलगाववादियों पर बरसे राजनाथ, बोले- बातचीत के लिए हमारे दरवाजे ही नहीं, रोशनदान तक खुले हैं...

नई दिल्ली (5 सितंबर): गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्य अंग था, है और रहेगा। राजनाथ सिंह ने श्रीनगर में सर्वदीलय प्रतिनिधमंडल पर पत्रकारों से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कश्मीर में शांति के लिए लोगों से बातचीत हुई। सभी की इच्छा है कि कश्मीर के हालात सुधरें।

उन्होंने कहा कि प्रतिनिधमंडल ने राज्य के सीएम, गवर्नर और अधिकारियों से भी बातचीत की। राज्य सरकार को हम पूरा सहयोग दे रहे हैं लेकिन हुर्रियत नेताओं का न मिलना कश्मीरियत नहीं है। 

> जो भी बातचीत करना चाहता है उसके लिए केवल हमारा दरवाजा ही नहीं खुला है, बल्कि रोशनदान भी खुले हैं। > कश्मीर के हालात में सुधार का पूरा भरोसा दिलाते हुए कहा कि कश्मीर भारत का अटूट अंग है और रहेगा। > पेलेट गन पर बनी समिति ने पावा सेल्स का विकल्प सुझाया है और उम्मीद है अब इससे किसी को नुकसान नहीं होगा। > राजनाथ सिंह ने कहा कि 30 से ज्यादा प्रतिनिधिमंडल से बातचीत हुई।