सेना को सलाम- कश्मीर में पत्‍थरबाजी के बीच, एक-एक आतंकी पर मौत बनकर टूटे हमारे जवान

डॉ. संदीप कोहली,

नई दिल्ली (15 फरवरी): शांत हुए कश्मीर में एक बार फिर अशांति की चिंगारी सुलगने लगी है। पिछले पांच दिनों से घाटी में अचानक आतंकी घटनाएं बढ़ गई हैं। मुठीभर आतंकियों के मददगार दोबारा सड़कों पर आम कश्मीरियों की आड़ में उतर आए हैं। इनकी वजह से कश्मीर में सेना को एक अजीबोगरीब हालात से जूझना पड़ रहा है। एक ओर हमारे जवान बरसती गोलियों के बीच आतंकियों से लोहा ले रहे हैं तो दूसरी ओर इन देशद्रोहियों के पथराव का भी सामना कर रहे हैं। ये मुठीभर देशद्रोही सेना के ऑपरेशन में रोड़े अटकाते हैं और पत्‍थर फेंक आंतकियों को भगाने में मदद करते हैं। बांदीपुरा में आतंकी मुठभेड़ के दौरान एक वीडियो सामने आया, जिसमें ये देशद्रोही सेना के काफिले पर पत्थरबाजी करते दिखाई दे रहे हैं। रविवार को कुलगाम में मुठभेड़ में चार आतंकी मारे गए थे, यहां भी घर में छुपे आतंकियों को बचाने के लिए सेना पर पत्थरबाजी की गई। इन देशद्रोहियों का कश्मीर और कश्मीरियत से कोई लेना-देना नहीं है। इनका मकसद हिंसक प्रदर्शन और पत्थरबाजी से सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाना और आतंकियों की मदद करना रहता है। सुरक्षा बलों का भी कहना है कि हाल के महीनों में आतंकियों से हमदर्दी रखने वाले ऐसे लोगों की तादाद में इजाफा हुआ है। जाहिर है आतंकवाद से निपटने में तब तक कामयाबी नहीं मिलेगी, जब तक इन देशद्रोहियों की पहचान कर स्थानीय लोगों से अलग नहीं किया जाएगा। साथ ही स्थानीय लोगों का विश्वास नहीं जीता जाएगा। लेकिन फिलहाल केंद्र और राज्य सरकार दोनों ही इसमें असफल दिख रहे हैं। घाटी के युवाओं को पाकिस्तान के आतंकी सरगना बहलाने में कामयाब हो रहे हैं। जब तक इसको नहीं रोका जाएगा तब तक घाटी में अमन और शांति लाना मुश्किल है।

मंगलवार को बांदीपुरा और हंदवाड़ा में मुठभेड़

    * उत्तरी कश्मीर में मंगलवार को बांदीपुरा और हंदवाड़ा में दो भीषण मुठभेड़ हुई।

    * जिसमें लश्कर के खूंखार आतंकी अबु हारिस समेत चार दहशतगर्दो को ढेर किया।

    * मुठभेड़ में सेना के एक मेजर व जम्मू के एक जवान सहित चार सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए।

    * मेजर सतीश दाहिया, राइफलमैन रवि कुमार, गनर अशुतोष कुमार, पैराटृ्रपर धर्मेंद्र कुमार।

    * मुठभेड़ में सीआरपीएफ के कमांडेंट समेत 11 सुरक्षाकर्मी भी घायल हुए हैं।

    * घायल सीआरपीएफ की 45वीं वाहिनी के कमांडेंट चेतन चीता हैं।

    * जिन्हें देर शाम श्रीनगर से दिल्ली के एम्स में शिफ्ट कर दिया गया।

कुलगाम में एनकाउंटर

    * इस साल का सबसे भीषण एनकाउंटर रविवार को कुलगाम में हुआ।

    * एनकाउंटर में चार आतंकी और और उनके मददगार की मौत हुई।

    * बाद में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में एक शख्स की मौत हो गई।

    * इस मुठभेड़ में हमारे दो जवान भी शहीद हो गए।

    * 33 वर्षीय लांस नायक बी गोपाल सिंह और 31 साल के सिपाही रघुबीर सिंह।

    * गोपाल गुजरात के अहमदाबाद जिले के गोकुल चांद चली चमनपुरा गांव के थे।

    * रघुबीर उत्तराखंड के चमोली जिले के मेखोली गांव के रहने वाले थे।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से बौखलाया पाकिस्तान लगातार करवा रहा है आतंकी हमले...

    * दिसम्बर 18, 2016- जम्‍मू-कश्‍मीर के पंपोर में सेना के काफिले पर आतंकी हमला, 3 जवान शहीद

    * दिसम्बर 8, 2016- अरवानी में लश्कर के 3 आतंकवादी ढेर, लेकिन अबु दुजाना बच निकला।

    * नगरोटा (जम्मू) 29 नवम्बर-  जम्मू के पास नगरोटा में आर्मी यूनिट पर आतंकी हमले में सेना के दो अफसर समेत सात जवान शहीद।

    * जकूरा (श्रीनगर),14 अक्टूबर : सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की पेट्रोलिंग पार्टी पर आतंकी हमला। एक जवान शहीद, 8 घायल।

    * पंपोर, 8 अक्टूबर : पंपोर स्थित ईडीआई बिल्डिंग में घुसे आतंकवादी, मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया।

    * शोपियां, 8 अक्टूबर : आतंकियों ने पुलिस पोस्ट पर हमला किया। इसमें एक पुलिस जवान शहीद हो गया।

    * कुपवाड़ा 6 अक्टूबर : मुठभेड़ खत्म, सुरक्षाबलों ने मार गिराए 3 पाक आतंकी.

    * बारामूला, 2 अक्टूबर : आतंकियों ने बारामूला में बीएसएफ और आर्मी के शिविरों को निशाना बनाया है। इस हमले में एक जवान शहीद हो गया।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान लगातार कर रहा है सीजफायर उल्लंघन...

    * नवंबर 2015 तक पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर में 437 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है।

    * सर्जिकल स्ट्राइक के बाद नियंत्रण रेखा पर सीजफायर का उल्लंघन की 159 घटनाएं हो चुकी हैं।

    * सीजफायर उल्लंघन की इन घटनाओं में नवंबर तक 19 सुरक्षा जवान शहीद हुए है।

    * 2016 में सेना के 60 जवान शहीद हो चुके हैं, जबकि 2014 में 32 और 2015 में 33 शहीद हुए थे।

    * इस साल 23 जवान एलओसी पर शहीद हुए, जबकि 2014 में 5 और 2015 में यह संख्या 4 थी।

    * आतंकवादी मुठभेड़ में 37 जवान शहीद हुए, जबकि 2014 में 27 और 2015 में यह संख्या 29 थी।

    * सबसे बड़ा हमला उरी और नगरोटा में हुआ था जहां क्रमश: 19 और 7 जवानों ने जान गंवाई।

    * साल 2016 में 100 आतंकवादियों को मार गिराया है।

    * जम्मू संभाग की 192 किमी लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 186 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ है।

    * सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 182 बार और नियंत्रण रेखा पर 104 बार उल्लंघन हुआ।

    * पाकिस्तान ने योजनाबद्ध तरीके से सीमांत चौकियों व रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया।

    * संघर्ष विराम उल्लंघनों में कम से कम 37 लोगों की मौत जबकि 179 अन्य घायल हो गए।

    * पाकिस्तान ने 82 एमएम, 120 एमएम के मोर्टार दागे, जिसमें अब तक 85 से अधिक लोग घायल हुए, 400 स्कूल बंद हुए।

    * जम्मू कश्मीर में सीमा पर 27,449 लोगों को संघर्ष विराम उल्लंघन के कारण सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया।

पाकिस्तान ने फिर शुरू किए PoK में बंद पड़े आतंकी ट्रेनिंग कैंप...

    * PoK में बंद पड़े आतंकी ट्रेनिंग कैंपों को पाकिस्तान ने दोबारा खोल दिया है।

    * खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली है मुज्जफराबाद में कैंप शुरू कर दिए गए हैं।

    * मुज्जफराबाद का सबसे बड़ा आतंकी ट्रेनिंग कैंप रत्तु फिर शुरू हो गया है।

    * लश्कर, हिजबुल और जैश के आतंकियों को सगंठित कर ट्रैनिंग दी जा रही है।

    * इस कैंप में लगभग 30 कश्मीरी युवाओं को ट्रेनिंग दी जा रही है।

    * भारत और अंतरराष्ट्रीय दबाब के चलते कई कैंपों को बंद कर दिया गया था।

    * साथ ही कई कैंपों को LoC से दूर शिफ्ट कर दिया गया था।

    * लेकिन खबर है कि अब एक बार फिर यहां आतंकी कैंप सक्रिय हो गए हैं।