बड़ा खुलासा: कश्मीर में हालात बिगाड़ने के पीछे दाऊद इब्राहिम!

नई दिल्ली(28 जुलाई): घाटी में हालात बिगाड़ने में अलगाववादियों का कनेक्शन देश के सबसे बड़े दुश्मन दाऊद से हो सकता है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की ISI ने हवाला के जरिए फंड पहुंचाने के लिए दाउद के नेटवर्क का इस्तेमाल किया है।

अलगाववादियों का दाऊद से कनेक्शन का पता लगाने के लिए जांच एजेंसियों ने अपनी तफ्तीश तेज कर दी है। सच सामने लाने के लिए NIA पिछले दिनों गिरफ्तार किए गए 7 अलगाववादियों के लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी में है।

एनआईए ने इस बात के सबूत जुटा लिए हैं कि अलगाववादियों को फंड हवाला के जरिए  पाकिस्तान से दुबई और दुबई  से कश्मीर के अलगाववदियो तक पहुंच रहे थे।  इस मामले में ऐसी जानकारी मिली है कि पाकिस्तान की आईएसआई ने हवाला के जरिए फंड पहुंचाने के लिए दाउद के नेटवर्क का इस्तेमाल किया है। जिसकी जांच एनआई के साथ दूसरी एजेंसियां भी कर रही हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दो साल पहले अमेरिका में गिरफ्तार किया गया दाउद का सबसे बड़ा फाइनेंसर हवाला आपरेटर  अल्ताफ खनानी की पूछताछ में इस तरह के खुलासे हुए थे जिसको भारतीय खुफिया एजेंसी से अमेरिका ने साझा किया था।

इस मामले में कश्मीर के हालात बिगाड़ने वालों के खिलाफ भारतीय जांच ऐजेंसियां कश्मीर में बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में है। ऐसे तमाम लोगों की लिस्ट तैयार कर लीगई है जिन लोगों ने कश्मीर में आतंक को बढ़ावा दिया। वहां पर संगठित तरीके से पत्थबाजी का षडंयंत्र किया। एनआईए ने कश्मीर के अलगाववादी नेता गिलानी के बड़े बेटे सहित 30 लोगों को पूछताछ के लिए समन भेजा है।  

इसके अलावा जिन सात लोगों को एनआई ने गिरफ्तार किया है लाई डिटेक्टर टेस्ट भी एनआई करानी की तैयारी कर रहा है। जिससे सच सामने सके।