जो सचिन, सहवाग, कोहली नहीं कर पाए, वो इस बल्लेबाज ने कर दिखाया

नई दिल्ली(2 जुलाई): महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में ज्यादातर नंबर 4 पर बल्लेबाजी की। उनके नाम हर वो बड़ा रिकॉर्ड दर्ज जो किसी भी बल्लेबाज का सपना होता है।  लेकिन यह महान बल्लेबाज टेस्ट क्रिकेट में कभी भी 300 का आंकड़ा नहीं पार कर सका। टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक लगाना किसी भी खिलाड़ी का सपना होता और वो भी छठे नंबर पर बल्लेबाज करते हुए ये कारनामा करना और भी शानदार हो जाता है।  

भारतीय घरेलू क्रिकेट में ये कारनामा मुकम्मल किया जा चुका है।इस खिलाड़ी का नाम है करुन नायर। करुन नायर हैं ने इसी साल घरेलू क्रिकेट में रनों का अंबार लगा दिया था और आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम की ओर से खेलते नजर आए थे।

नायर ने इस साल मार्च में खेले गए रणजी ट्रॉफी फाइनल में कर्नाटक की ओर से खेलते हुए छठवें नंबर पर बल्लेबाजी की और 328 रन ठोक दिए। छठवें नंबर पर आकर तिहरा शतक जड़ना किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं होता। गौर करने वाली बात ये है कि जब नायर बल्लेबाजी करने आए थे तो टीम ने अपने पांच विकेट 84 रनों के स्कोर पर गंवा दिए थे।

नायर के इस तिहरे शतक की ही बदौलत कर्नाटक ने रणजी ट्रॉफी जीती थी।  इससे पहले भारतीय घरेलू क्रिकेट में छठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सर्वाधिक स्कोर वीरेंद्र सहवाग ने साल 1999-2000 में उत्तर जोन की ओर से खेलते हुए दक्षिणी जोन के खिलाफ बनाया था।

नायर क्रिकेट इतिहास के दूसरे बल्लेबाज  हैं जिसने रणजी ट्रॉफी के फाइनल में तिहरा शतक जड़ा है। उनके पहले साल 1946-47 में बड़ौदा के बल्लेबाज गुल मोहम्मद ने होल्कर के खिलाफ 319रनों की पारी खेली थी। वहीं कर्नाटक की ओर से दूसरा तिहरा शतक लगाने वाले बल्लेबाज कुरन नायर हैं। उनके पहले के एल राहुल ने साल 2015 में उत्तरप्रदेश के खिलाफ 337 रन बनाए थे।