एक ही घर में दो बीवियों के साथ रहेगा यह शख्स

नई दि्ली(19 दिसंबर): कर्नाटक के मैसूर के नरुला एक ही घर में दो बीवियों के साथ रहेंगे। 46 के नरुला दो शादी कर चुके हैं और उनकी दोनों पत्नियों ने हाई कोर्ट के सामने संयुक्त तौर पर एक मेमो पर साइन कर हमेशा एक ही छत के नीचे रहने का वादा किया है।

- इसके अलावा तीनों ने ही आपस में मिलकर रहने और दोनों जोड़े की संतानों का संयुक्त रूप से ख्याल रखने पर भी सहमति जताई है।

- अपने बयान में दोनों पत्नियों ने कहा है कि उनके समुदाय में प्रचलित कानून के मुताबिक उनके पति को अपनी सुविधानुसार उनमें से किसी के भी साथ रहने की स्वतंत्रता है।



- नरूला सऊदी अरब में एक कार मैकेनिक के तौर पर काम करते हैं। उनकी पत्नियां रहीना और शहीरा की उम्र 34 और 31 है। इस त्रिकोणीय रिश्ते में तब दिक्कतें पैदा होनी शुरू हुई जब रहीना ने सहीरा के जुड़वों को अपनी कस्टडी में रख लिया। रहीना बेंगलुरु में रहती है जबकि सहीरा मैसूर में रहती है। मैसूर की फैमिली कोर्ट ने रहीना को शहीना के जुड़वा बच्चों की कस्टडी शहीना को सौंपने का आदेश दिया। इसके बाद तीनों ने मिलकर समझौता कर लिया।

- कोर्ट में कई जोड़े अपनी पारिवारिक झगड़े लेकर आते हैं और कोर्ट के बाहर समझौता हो जाने के बाद कोर्ट में जॉइंट मेमो दाखिल करते हैं। लेकिन इस त्रिकोणीय रिश्ते का मामला कुछ अलग था।

- जॉइंट मेमो में कहा गया, दोनों महिलाओं ने एक ही आदमी से शादी की है और हर पार्टी इससे सहमत है कि इस तरह के रिश्ते को उनके कानून की मान्यता प्राप्त है।

-सहीरा और नरूला अलग-अलग रह रहे थे। समझौता होने के बाद सभी मतभेदों को भुलाकर अब तीनों एक ही छत के नीचे रहने को हंसी-खुशी राजी हो गए हैं। सहीरा रहीना और नरूला के साथ एक सुखी दांपत्य जीवन बिताएगी।

- नरूला बेंगलुरु के विजयनगर में सहीरा के लिए एक घर लेंगे और उस घर में वह सहीरा के साथ कुछ दिन रहेंगे। इसके बाद वह रहीना को भी बुलाएंगे और इस तरह तीनों एक साथ एक घर की छत के नीचे रहेंगे। नरूला और सहीरा ने एक -दूसरे के प्रति वफादार रहने और एक-दूसरे का सम्मान करने और एक-दूसरे से न झगड़ने का वादा किया है।

- तीनों ने तय किया है कि अब से वे छोटे-छोटे विवादों को खुद प्यार से सुलझाएंगे और एक-दूसरे के साथ अच्छा व्यवहार करेंगे। एक-दूसरे के प्रति स्नेह रखेंगे और तीनों एक पति या पत्नी के कर्तव्यों को अच्छे ढंग से निभाएंगे।

- नरूला और रहीना ने यह भी वादा किया कि अगर तीनों के बीच अच्छे प्रेमपूर्वक संबंध बन जाते हैं तो सहीरा को चार साल के जुड़वां बच्चों की कस्टडी भी दे दी जाएगी। इस पर भी सहमति बनी कि दोनों बच्चों की देखभाल की जिम्मेदारी संयुक्त होगी और दोनों जोड़ों में से उत्पन्न हर संतान के तीनों अभिभावक रहेंगे।