Blog single photo

कर्नाटक: केजी बोपैया प्रोटेम स्पीकर नियुक्त, कांग्रेस ने उठाए सवाल

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद कर्नाटक का नाटक रूकने का नाम नहीं ले रहा है। अब राज्यपाल ने बीजेपी विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर के तौर पर नियुक्त करने का निर्णय

नई दिल्ली (18 मई): सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद कर्नाटक का नाटक रूकने का नाम नहीं ले रहा है। अब राज्यपाल ने बीजेपी विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर के तौर पर नियुक्त करने का निर्णय किया है, जिसको लेकर कांग्रेस ने सवाल खड़े कर दिए हैं।नियम के अनुसार, प्रोटेम स्पीकर के तौर पर सबसे वरिष्‍ठ नेता को चुना जाता है, जिस कारण कांग्रेसी विधायक आरवी देशपांडे का नाम इसके लिए सामने आया था। सुप्रीम कोटे ने देशपांडे का नाम सुझाया था, लेकिन यह अधिकार राज्यपाल के पास होता है। देशपांडे अभी सबसे वरिष्‍ठ नेता हैं और 8 बार कांग्रेस विधायक रह चुके हैं।इससे पहले खबर आई थी कि सीएम येदियुरप्पा प्रोटेम स्पीकर के लिए उमेश काठी का नाम गवर्नर को दे रहे हैं, वह 7 बार के बीजेपी विधायक हैं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और अब खबर आई कि राज्यपाल ने बीजेपी विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर के तौर पर नियुक्त किया। जिसके बाद कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए कहा कि बीजेपी ने जो किया है, वो रूलबुक के खिलाफ है। सबसे वरिष्ठ नेता को यह पद दिया जाता है।कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी ने प्रोटेम स्पीकर को लेकर परंपरा को बदला है। अगर ऐसा होता है तो हम हर राजनीतिक और कानूनी विकल्प पर विचार करेंगे। इसके बाद बीजेपी की तरफ से प्रकाश जावड़ेकर ने मोर्चा संभालते हुए कहा कि केजी बोपैया को 2008 में भी प्रोटेम स्पीकर बनाया गया था। उस समय बोपैया की उम्र आज से 10 साल कम थी। कांग्रेस बिना वजह के विरोध कर रही है। बोपैया जी की नियुक्ति नियमों के मुताबिक है।

NEXT STORY
Top