कर्नाटक: BJP को घेरने की तैयारी में कांग्रेस, राष्ट्रपति से मांगा वक्त

नई दिल्ली (18 मई): गुरुवार को भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा ने तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। उन्होंने जल्द बहुमत साबित करने का दावा किया है। हालांकि बहुमत का आंकड़ा जुटाना उनके लिए बड़ी चुनौती होगी।

वहीं कर्नाटक में सबसे बड़ा दल होने के कारण बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता मिलने पर अब कांग्रेस ने अपनी इस विरोधी पार्टी को घेरने की तैयारी शुरू कर दी है। कांग्रेस ने कहा है कि वो सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते गोवा, मणिपुर और मेघालय में राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश करेगी।

इसके अलावा कांग्रेस ने राष्ट्रपति के समक्ष इस मामले को उठाने को फैसला किया है। राज्यसभा में पार्टी के नेता गुलाम नबी आजाद कर्नाटक विधायकों को लेकर राष्ट्रपति से शनिवार को मुलाकात करेंगे। आजाद आज शाम कर्नाटक से दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने बहुमत वाले कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित नहीं किया, जिसे लेकर कांग्रेस शुक्रवार को देशभर में 'लोकतंत्र बचाओ दिवस' मनाएगी। कांग्रेस ने राज्यपाल के फैसले को लोकतंत्र की हत्या बताया है।

उधर, शपथग्रहण से नाराज कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने राजभवन के सामने धरना दिया। अब सबकी नजर आज सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई पर टिकी है।