लाइव टेलिकास्ट से निष्पक्षता बनी रहेगी: सिंघवी

नई दिल्ली (19 मई): कर्नाटक में विधानसभा बहुमत परीक्षण से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। हालांकि कांग्रेस-जेडीएस इसे अपनी जीत बताने में भी पीछे नहीं रह रही है। सुप्रीम कोर्ट ने प्रोटेम स्पीकर को बदलने वाली कांग्रेस की याचिका को खारिज करते हुए विधानसभा कार्यवाही को लाइव दिखाने की बात कही। 

कर्नाटक की राजनीतिक जंग की आखिरी रणभेरी आज बजने वाली है। आज कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार की अग्निपरीक्षा है, शाम 4 बजे फ्लोर टेस्ट होना है। हालांकि बीजेपी और कांग्रेस दोनों का दावा है कि मैजिक नंबर उनके पास है, लेकिन चंद घंटों में ही ये सामने आ जाएगा कि विधानसभा के नंबर गेम में बीजेपी को मिलेगी जीत या फिर कांग्रेस-जेडीएस के हाथ होगी सत्ता की कमान।

लाइव अपडेट:

-हमारा मुख्य उद्देश्य पारदर्शिता सुनिश्चित करना था। लाइव टेलिकास्ट की बात से हम उम्मीद करते हैं कि निष्पक्षता बनी रहेगी। मुझे कोई शक नहीं है इस बात पर कि जीत कांग्रेस-जेडीएस की ही होगी: अभिषेक मनु सिंघवी

-सुनवाई के दौरान एएसजी तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि बहुमत परीक्षण का लाइव टेलिकास्ट किया जाएगा।

- सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला, प्रोटेम स्पीकर बने रहेंगे केजी बोपैया। कांग्रेस और जेडीएस की याचिका खारिज हुई। 

-सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कई बार ऐसा हुआ है कि प्रोटेम स्पीकर सबसे वरिष्ठ सदस्य नहीं बने

-बोपैया का इतिहास दागदार रहा है: कपिल सिब्बल

-सबसे वरिष्ठ विधायक को ही प्रोटेम स्पीकर बनाया जाता है: कपिल सिब्बल

-राज्यपाल ने गलत परंपरा की शुरुआत की: कपिल सिब्बल

- प्रोटेम स्पीकर पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई

इसकेअ साथ ही दोनों पार्टियों में प्रोटेम स्पीकर को लेकर एक बार फिर जंग छिड़ गई है। राज्यपाल द्वारा केजी बोपैय्या को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किए जाने पर कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है।कर्नाटक के नाटक की मुख्य बातें:

- फ्लोट टेस्ट से पहले येदियुरप्पा ने मास्टर स्ट्रोक खेला है। येदियुरप्पा ने कहा है कि बहुमत साबित करने के बाद कल सुबह वो कैबिनेट की आपात बैठक बुलाएंगे, जिसमें किसानों की कर्ज माफी और सीनियर सिटिजन को पेंशन दिलाने पर मुहर लगाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से शाम 5 बजे तक शांति बनाए रखने की अपील की है, उसके बाद जश्न मनाने को कहा है।

- सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कर्नाटक की सियासी उठापटक पर फैसला सुनाते हुआ आज शाम 4 बजे बहुमत परीक्षण करवाने का आदेश दिया था। बहुमत परीक्षण से पहले बीजेपी, कांग्रेस-जेडीएस जीत के अपने-अपने दावे कर रहे हैं।- सीएम येदियुरप्पा को विधानसभा के फ्लोर पर अपना बहुमत साबित करना है, लेकिन सवाल है कि आखिरकार वो अपना बहुमत साबित कैसे करेंगे। बीजेपी के पास सिर्फ 104 विधायकों की संख्या है जबकि बहुमत का आंकड़ा 112 का है।- कर्नाटक में अब प्रोटेम स्पीकर पर घमासान मचा है। केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर चुने जाने का कांग्रेस और जेडीएस विरोध कर रही है। दोनों ने सुप्रीम कोर्ट में इसके खिलाफ याचिका दायर की है। जिसपर आज सुबह 10.30 बजे सुनवाई होगी। तीन जजों की पुरानी बेंच ही मामले की सुनवाई करेगी।- JDS के 5 विधायक बोपैया को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए।- कांग्रेस ने बोपैया को लेकर इस मुद्दे को उठाया तो बीजेपी ने बड़ा पलटवार किया। कर्नाटक के बीजेपी प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि केजी बोपैया को 2008 में तब के राज्यपाल रामेश्वर ठाकुर ने प्रोटेम स्पीकर बनाया था। जबकि तब उनकी उम्र आज से 10 साल कम थी। बीजेपी का दावा है कि बोपैया की नियुक्ति नियमों के तहत हुई है।