लखनऊ: IAS की संदिग्ध मौत, पिता ने लगाया हत्या का आरोप

नई दिल्ली ( 17 मई ): कर्नाटक बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी अनुराग तिवारी की बुधवार सुबह राजधानी लखनऊ में सड़क किनारे बॉडी मिलने से प्रशासनिक अमला सकते में है। आईएएस अनुराग तिवारी के पिता बीएन तिवारी ने बड़ा आरोप लगाते हुए उनकी हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि उनके ईमानदार बेटे की हत्या कराई गई। उन्होंने कहा कि उनका बेटा ईमानदार था जिससे उसके सीनियर उससे जलते थे। पिता के इस आरोप के बाद भूचाल आ गया है।

पुलिस ने इसको 'रहस्‍यमय परिस्थितियों' में मौत कहा है। मृतक आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी 2007 बैच के कर्नाटक कैडर के आईएएस थे। वह यूपी के ही बहराइच के रहने वाले थे। आज उनका जन्मदिन था। इस घटना के बाद तिवारी की मां की हालत अत्यंत गंभीर हो गई है जिन्हें चिकित्सक अपनी निगरानी में रखे हैं।  

पुलिस के मुताबिक उनकी बॉडी हजरतगंज इलाके में मीरा बाई गेस्‍ट हाउस के पास मिली है। कहा जा रहा है कि वह पिछले दो दिनों से यहां ठ‍हरे थे। सबसे पहले सड़क से गुजरते कुछ राहगीरों ने बॉडी को सड़क किनारे देखा और पुलिस को सूचित किया। ऑफिसर की पहचान उसके आई-कार्ड से हुई है। बॉडी को पोस्‍टमार्टम के लिए अस्‍पताल ले जाया गया है। विस्‍तृत विवरण की प्रतीक्षा है।

हजरतगंज के पुलिस निरीक्षक एके शाही ने बताया कि शुरुआती जांच में तिवारी के जबड़े के पास चोट के निशान पाये गये हैं। इसके अलावा उनके शरीर पर कोई चोट नहीं दिखी है। शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है। मामले की जांच जारी है।