अंडरवर्ल्ड को आज भी याद है करीम लाला के हाथोें मुंबई में दाऊद की वो पिटाई !

 नई दिल्ली (28 अप्रैल): अपराध और आतंक की दुनिया का कुख्यात नाम दाऊद इब्राहीम ने अपने शुरुआती दिनों में बहुत बेइज्जती का सामना करना पड़ा है। उसे कई बार मुंबई के उस समय के सरगनाओँ ने सरेआम पीटा है। इन्हीं में से एक नाम था करीम लाला का। लाला ने एक बार दाऊद की जमकर पिटाई की थी। पठानों के मसीहा कहलाने वाले करीम लाला को माफिया वर्ल्ड में पठान सरदार कहते थे। करीम लाला का जन्म अफगानिस्तान में पैदा हुआ था। वो पहले पाकिस्तान के पेशावर पहुंचा वहां सफलता नहीं मिली तो वो मुंबई आ गया।

मुंबई आकर उसने हफ्त वसूली, अवैध शराब और जुए के अड्डे शुरु कर दिये। पैसा इकट्ठे हो जाने के बाद उसने और हीरों की तस्करी शुरु कर दी थी। उसके समकालीन हाजी मस्तान ने करीम लाला से झगड़ा करने के बजाये अपना इलाका बदल लिया था। दोनों में आपस में समझौता था कि कोई भी एक दूसरे के साथ कभी झगडा नहीं करेगा। कुछ समय बाद दाऊद हाजी मस्तान के साथ काम शुरु किया और उसने करीम लाला के इलाके में सेध लगानी शुरु कर दी। इस बात को करीम ने उसे सरेआम पकड़ कर पीटा लेकिन जान से नहीं मारा। इसके बाद भी दाऊद करीम लाला के इलाकों में सेंध मारी करता रहा। एक दिन करीम लाला के आदमियों ने दाऊद और उसके भाई शब्बीर को घेर लिया। दाऊद बचकर भाग गया जबकि उसका भाई मारा गया।