केजरीवाल के बचाव में 'आप', कपिल के आरोपों को बताया आधारहीन


नई दिल्ली(8 मई): दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर लगे 2 करोड़ की रिश्वत लेने के आरोप के बाद आम आदमी पार्टी ने पहली बार आधिकारिक तौर पर बयान दिया है। पार्टी ने कहा कि कपिल मिश्रा बीजेपी की भाषा बोल रहे हैं।


- पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने मामले को बड़ी साजिश बताते हुए कहा कि इसकी आड़ में AAP सरकार के उत्पीड़न का खेल चल रहा है। उन्होंने पूछा कि आखिर कपिल मिश्रा यह क्यों नहीं बता रहे कि वह किस टाइम पर सीएम आवास गए थे जहां उन्होने केजरीवाल को कथित तौर पर रिश्वत लेते हुए देखा। सिंह ने कहा कि कपिल मंत्री पद जाने की बौखलाहट में ये बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।


- आम आदमी पार्टी की ओर से बुलाई गई प्रेस कॉन्फ्रेस में संजय सिंह ने कहा, 'आम आदमी पार्टी की सरकार, आम आदमी पार्टी के मंत्रियों के उत्पीड़न का खेल चल रहा है, यह बड़ी साजिश का हिस्सा है। कपिल लगातार वही बात कर रहे हैं जो पिछले काफी वक्त से बीजेपी कहती आई है। वह बीजेपी की भाषा बोले रहे हैं।'


- संजय सिंह ने कपिल के आरोपों पर सवाल उठाते हुए कहा, 'कपिल कह रहे हैं कि दो करोड़ की रिश्वत ली, रिश्तेदार की डील करवाई। मजाकिया अंदाज में लोग पूछ रहे हैं कि क्या केजरीवाल ने मिश्रा को फोन कर के बुलाया था कि आओ, देखो में पैसे ले रहा हूं। कपिल अगर सीएम के घर गए थे, तो ये बताएं कि कब गए थे...टाइम 

नहीं बता रहे। किस रिश्तेदार के लिए डील करवाई..यह भी बताने को तैयार नहीं हैं। वह मंत्री पद जाने की बौखलाहट में ये आरोप लगा रहे हैं।'


- उन्होंने आगे कहा, 'कपिल परसों कह रहे थे कि एसीबी के सामने टैंकर स्कैम की जानकारी दूंगा और आज जब वहां गए तो आरोप लगा दिया कि केजरीवाल शीला दीक्षित को बचा रहे हैं।' इस दौरान संजय सिंह ने कपिल मिश्रा का एक पत्र भी दिखाया जो उन्होंने 24.09.16 को एसीबी को लिखा था। संजय सिंह ने पत्र पढ़कर बताया कि कपिल मिश्रा ने इसमें टैंकर घोटाले में एसीबी की कार्रवाई पर तमाम सवाल उठाए थे।


- उन्होंने कहा, 'कपिल ने खुद लिखा था कि उन्हें एसीबी की कार्रवाई पर भरोसा नहीं है। आपकी नीयत ठीक नहीं लगती। पूरी रिपोर्ट में एक बार भी केजरीवाल के नाम पर जिक्र नहीं है। एसीबी केजरीवाल को एक और मामले में फंसाने के भयानक दबाव में है।'