धोनी की कप्तानी पर कपिल देव ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली ( 18 दिसंबर ): भारत को पहली बार 1983 में विश्व चैंपियन का खिताब दिलाने वाले कपिल देव ने धोनी से वनडे टीम की कमान लेकर कोहली कौ सौंपने के मुद्दे पर  बड़ा बयान दिया है। उनकी राय कई दिग्गजों से अगल है।

कपिल देव का मानना है कि धोनी को फिलहाल वनडे और टी-20 टीम का कप्तान बने रहने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि धोनी के पास कप्तानी का अच्छा अनुभव है।  वह जब तक इस काम को बेहतर तरीके से कर रहे हैं तब तक उन्हें कप्तान बनाए रखना चाहिए।

उन्होंने कहा कि टेस्ट कप्तान के रूप में कोहली बहुत बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन कई बार इस तरह की बातें उठती हैं कि कोहली को वनडे और टी-20 की कप्तानी सौंपने का वक्त आ गया है। कपिल ने कहा कि ऐसे लोगों से सवाल पूछना चाहिए कि क्या हम उस स्थिति में हैं कि धोनी को पीछे हटने के लिए कह सकें। उन्होंने आगे कहा कि मुझे लगता है कि उनमें अभी टीम का नेतृत्व करने के लिए पर्याप्त दमखम है। जब समय आएगा धोनी क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट खेलना छोड़ देंगे। मेरा मानना है कि यह समय बेहद महत्वपूर्ण है। धोनी बतौर कप्तान अच्छा कर रहे हैं। उनके पास अच्छा खासा अनुभव है और उन्हें कप्तानी करते रहना चाहिए।

जब कपिल से धोनी और कोहली की कप्तानी के बीच तुलना करने को कहा गया तो उन्होंने कहा कि इस सवाल का जवाब देना जल्दबाजी होगी। दो व्यक्ति एक जैसे नहीं होते ठीक वैसा अंतर धोनी और कोहली की कप्तानी में है। कोहली आक्रामक हैं तो धोनी संयमित और शांत। मुझे लगता है कि दोनों की बीच तुलना करना बेहद मुश्किल है और दोनों की टीमों और एटीट्यूड में बहुत अंतर है।

स्थितियां बदल गई हैं। कल आप पूछेंगे कि क्या इन दोनों की तुलना सौरव गांगुली से कर सकते हैं। इसलिए हर कप्तान का अपनी अलग शैली होती है वह अपने तरीके से टीम का गठन करता है। वह अपने तरीके से टीम में आक्रामकता का समावेश करता है खिलाड़ियों को उत्साहित करता है। आप आक्रामक हैं या नहीं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।लेकिन ये सभी चीजें इस बात पर निर्भर करती हैं कि क्या इससे टीम को अच्छे परिणाम मिल रहे हैं या नहीं।