कंसास फायरिंग में घायल अमेरिकी बोला- खुशी है एक भारतीय को बचा सका

नई दिल्ली(24 फरवरी): अमेरिका के कंसास के बार में हुई फायरिंग में 24 साल के एक अमेरिकी इयान ग्रिलट को भी गोली लगी। ग्रिलट फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं।

- ग्रिलट ने कहा, "जो हुआ, उसे कतई सही नहीं कहा जा सकता। एक बात की खुशी है कि मैं एक शख्स को बचा सका। वो जिंदा हैं। अब वो मेरे बेस्ट फ्रेंड हैं।"

- बता दें कि 23 जनवरी की रात कंसास के बार में हुई गोलीबारी में एक भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोतला की मौत हो गई थी और उनका दोस्त जख्मी हो गया।

- कंसास सिटी स्टार सिटी' अखबार ने ग्रिलट की फेसबुक पोस्ट को भी कोट किया है।

- ग्रिलट की बहन ने लिखा, "वह दो लोगों को बचाने के लिए लड़ता रहा। इस मुश्किल वक्त में हमने उनके लिए प्रेयर की। उन्हें हमारा पूरा सपोर्ट है।"

- ग्रिलट गोली चलाने वाले एडम पुरिन्टन के पीछे वाली टेबल में बैठे थे।

- रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रिलट को कंधे से होते हुए सीने में गोली लगी। तब तक पुरिन्टन एक राउंड फायर कर चुका था।

- अन्य आईविटनेस ने कहा, "ग्रिलट ने तनाव कम करने की पूरी कोशिश की। उनका ऐसा करना बिल्कुल नेचरल था। हमलावर ने फायरिंग करने के बाद कहा था- मेरे देश से निकल जाओ।"

और क्या बोले ग्रिलट?

- यूनिवर्सिटी ऑफ कंसास हेल्थ सिस्टम द्वारा जारी वीडियो में ग्रिलट ने कहा, "मुझे लगता है कि थोड़ी चूक भी हुई।"

- "जब मैं दोनों भारतीयों को बचाने की कोशिश कर रहा था, तो उस वक्त कुछ भी दिमाग में नहीं था।"

- "ये सही नहीं हुआ। मैं कतई ये नहीं चाहता कि ऐसा दोबारा हो।"

- "जैसे ही मैंने मसदानी को हॉस्पिटल के दरवाजे पर देखा, मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मेरे चेहरे पर मुस्कुराहट दौड़ गई।"

- "मैं ईश्वर का आभारी हूं कि वो अच्छे हैं और जिंदा हैं।"