JNU देशद्रोह विवादः दोषी ठहराये छात्रों के साथ कन्हैया भूख हड़ताल पर

नई दिल्ली (28 अप्रैल): जेएनयू प्रशासनिक समिति की सिफारिशों के बाद दंडित किये गये कन्हैया कुमार ने अपने कुछ सहयोगियों के साथ भूख हड़ताल शुरु कर दी है। बीती नौ फरवरी की विवादास्पद घटना में दोषी पाये गये इन छात्रों पर जेएनयू  प्रशासन सेमेस्टर निष्कासन और आर्थिक दण्ड भी दिया है। ने कुछ छात्रों पर ये कार्रवाई की है। जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य और यूनिवर्सिटी के अन्य छात्रों के साथ भूख हड़ताल शुरू की और कहा कि उन लोगों ने मामले की जांच करने वाली उच्च स्तरीय जांच समिति के फैसलों और सिफारिशों को उन्होंने खारिज कर दिया है।

कन्हैया कुमार के इस अड़ियल रवैये से उसको एंव अन्य दोषी छात्रों के खिलाफ अदालती कार्रवाई की आशंका बढ़ रही है। अदालत ने कन्हैया को जमानत देते हुए कई सारी शर्तें रखीं है। जिनमें एक शर्त सहयोगात्मक रवैया रखने और किसी प्रकार के राजनीतिक अथवा देश द्रोही कृत्य में शामिल न होना भी शामिल है। जमानत पर छूटने के बाद से ही कन्हैया पर फिर से अड़ियल रवैया अपनाने और विवादात्मक बयान देने के आरोप लगते रहे हैं।