देशद्रोह प्रकरणः कन्हैया ने कहा, जेएनयू प्रशासन की कार्रवाई के खिलाफ आंदोलन होगा

नई दिल्ली (26 अप्रैल):  जेएनयू के छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को निष्कासित करने के फैसले के बाद बवाल बढ़ गया है। छात्र संघ ने इस मामले पर देशव्यापी अभियान की धमकी दी है। जेएनयू प्रशासन ने ‘देशद्रोह’ मामले में जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद को अनुशासन तोड़ने का दोषी पाया था।

जेएनयू प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए कन्हैया कुमार पर दस हजार रुपए का जुर्माना लगाया है जबकि‍ उमर खालिद को एक सेमेस्टर के लिए निष्कासित किया था। कन्हैया कुमार ने ट्वीट किया कि जेएनयू समिति के आधार पर प्रशासन द्वारा दंड दिये जाने को खारिज करता है। अपने विरूद्ध फैसले को ‘अस्वीकार्य’ करार देते हुए अनिर्बान और उमर ने आरोप लगाया कि प्रशासन की कार्रवाई आरएसएस की शह पर परेशान करने जैसी घटना है।