प्रहलाद बंदवार की हत्या मामले में कमलनाथ का बयान, मौत का राजनीतिकरण करना सही नहीं

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 जनवरी): मंदसौर में बीजेपी नेता की हत्या मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि मौत का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए, खासकर जब ये किसी पार्टी का आंतरिक मामला हो। कमलनाथ ने कहा कि 'मृत बीजेपी नेता के बेटे ने नामजद एफआइआर दर्ज कराई है। मामले में कोई बड़ी जांच की जरूरत नहीं है, दो चश्मदीद भी हैं।

दरअसल मंदसौर में नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंदवार की हत्या के बाद सूबे की सियायत गर्मा गई है। हत्या के बाद प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार को निशाने पर ले लिया। उन्होंने सीएम कमलनाथ को खत लिखकर बीजेपी नेता की हत्या की जांच की मांग करते हुए राज्य की कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े किए। शिवराज ने इंदौर में हुए बिल्डर संदीप अग्रवाल की हत्या का भी जिक्र करते हुए हत्यारोपियों पर भी कड़ी कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद इसपर राजनीति शुरू हो गई।

आपको बता दें कि मंदसौर नगर निगम के अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की नई आबादी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अज्ञात बाइक सवार ने गणपति चौराहे के पास प्रहलाद को शाम 7.10 बजे गोली मारी। गोली बीजेपी नेता के सिर में लगी और उनकी मौत हो गई। घटना की खबर फैलते ही पूरे इलाके में तनाव फैल गया। वहीं प्रहलाद बंधवार की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। पोस्टमॉर्टम करने वाले पैनल के डॉक्टरों के मुताबिक बंधवार को 3 गोली लगी थीं, 2 सिर में ओर 1 पेट में।

इस बीच मंदसौर गोलीकांड के आरोपी के बीजेपी नेताओं के साथ फोटो वायरल हो रहे हैं। तस्वीरों में बीजेपी विधायक यशपाल सिसोदिया और बीजेपी नेता वंशीलाल गुर्जर के साथ आरोपी दिख रहा है। हालांकि ये फोटो सार्वजनिक कार्यक्रमों की हैं। सूत्रों के अनुसार गोली कांड के आरोपी मनीष बैरागी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। प्रहलाद बंदवार के अंतिम संस्कार के बाद इसकी आधिकारिक पुष्टि की जाएगी।