कल्वे जवाद ने दिया ऐसा बयान कि कुछ मुस्लिम धर्म गुरुओं पर लटक गयी तलवार!

नई दिल्ली (12 मार्च):  शिया मुसलमानों के धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने देश की सुरक्षा एजेंसियां उन कथिच धर्मगुरूओं पर भी कार्यवाही करे जो आतंकवादी संगठनों का समर्थन करते हैं। लखनऊ में आतंकी कार्यवाही की विफल कोशिश और सैफुल्लाह नामक संदिग्ध आतंकवादी के एनकाउंटर पर कड़ा रूख अपनाते हुए मजलिस-ए-उलेमा-ए हिन्द के महासचिव और भारत में वरिष्ठ शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे जवाद ने कहा है कि देश में मौजूद ऐसे धर्मगुरूओं की जांच होनी चाहिए जिन्होंने किसी भी स्तर पर आईएसआईएस जैसे आतंकवादी गुट का समर्थन किया हो। उन्होंने कहा कि आईएसआईएस के सरग़ना अबूबक्र बग़दादी को लखनऊ शहर से उसके समर्थन में पत्र लिखा गया था। इस बात की भी जांच होनी चाहिए।

 

मौलाना ने कहा कि इसी एक तथाकथित धर्मगुरू ने अपने फेसबुक पेज पर आईएसआईएस नक़्शे और झंडे का प्रचार किया। इस बात को देश के मीडिया ने भी दिखाया, मगर दुखद स्थिति यह है कि ऐसे तथाकथित धर्मगुरूओं की जांच कर कार्यवाही नहीं की जाती। वरिष्ठ शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे जवाद ने कहा कि हमें आतंकवाद की फैलती जड़ को काटना चाहिए क्योंकि इसमें आम जनता की कोई ग़लती नहीं है बल्कि उन धर्मगुरूओं के ख़िलाफ़ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए जो भोले भाले युवाओं को बहका कर आतंकवाद घिनौने जैसे रास्ते पर ले जा रहे हैं।