एपीजे कलाम की प्रतिमा के पास से हटाई गई कुरान-बाइबिल


चेन्नई (1 अगस्त): पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की प्रतिमा के पास पिछले दिनों रखी गई कुरान और बाइबिल को हटा दिया है। जिला प्रशासन ने हिंदू नेशनलिस्ट पार्टी की शिकायत के बाद इसे हटाया है। हालांकि हिंदू नेशनलिस्ट पार्टी का कहना है कि वो कुरान और बाइबिल का इज्जत और सम्मान करते हैं लेकिन जिस तरह से इसे पूर्व राष्ट्रपति की प्रतीमा के पास रखा गया था वो उसका विरोध करते हैं। पीएम मोदी ने 27 जुलाई को को कलाम की दूसरी पुण्यतिथि पर रामेश्वरम में कलाम मेमोरियल का उद्घाटन किया था।

डीएमके समेत कई राजनीतिक पार्टियों ने मेमोरियल में वीणा बजाते हुए कलाम की मूर्ति और उसके पास भगवद्गीता के श्लोक लिखवाए जाने पर विरोध दर्ज कराया है। जिसके बाद यहां कुरान और बाइबिल को भी रखा गया था।

वाइको नीत एमडीएमके और पीएमके ने 15 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित स्मारक में वीणा बजाते कलाम की लकड़ी की प्रतिमा के बगल में उत्कीर्ण भगवत गीता रखे जाने की जरूरत पर सवाल उठाया था। स्मारक की डिजाइन और निर्माण डीआरडीओ ने किया है जिससे कलाम लंबे समय तक जुड़े रहे।