नोटबंदी के बाद काला धन बन गया जन-धन: वित्त राज्यमंत्री

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 16 जून )  मोदी सरकार के वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ल ने कहा कि 'काला धन' अब 'जन-धन' बन गया हैं। तिजोरियों में बंद पड़ा यह धन अब लोगों के काम आ रहा हैं। उन्होंने बताया कि शून्य बैलेंस से 35 करोड़ खाते खुल गए हैं और आज इन खातों में 85,000 करोड़ जमा हुए हैं।बीएसई के एक कार्यक्रम में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा, नोटबंदी का फायदा अब दिख रहा है, क्योंकि जो धन घरों में 'यूं ही' रखा था, उसका उपयोग उत्पादक कार्यों में हो रहा है। बीएसई के एक कार्यक्रम में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा, 'जो धन घरों में निष्क्रिय पड़ा था और उसका कोई उपायोग नहीं था, वह बैंकों में आ गया। इस धन का उपयोग अब देश हित में हो रहा है।'उन्होंने कहा कि नोटबंदी के शुरुआती दिनों में लोगों को परेशानी हुई और सरकार को भी आलोचना झेलनी पड़ी। मंत्री ने जोर देकर कहा कि नोटबदी विफल नहीं हुई। शुक्ल ने दावा किया कि 'काला धन' अब 'जन-धन' बन गया है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1,000 रुपये के नोटों को चलन से हटाने की घोषणा की थी।उन्होंने कहा, 'देश का आर्थिक परिदृश्य बेहतर है और निवेशकों के लिए अच्छी धारणा सृजित कर रही है। वैश्विक रेटिंग एजेंसियों ने भरोसा जताया है। दाल, सब्जी और खाद्य तेल के दाम भी अपेक्षाकृत कम हैं।'