'मल्लिका साराभाई को पीएम मोदी का विरोध करने की थी जल्दी'

नई दिल्ली (23 जनवरी) :  नृत्यांगना मृणालिनी साराभाई के निधन के बाद उनकी बेटी मल्लिका साराभाई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर संवेदना नहीं जताने के लिए निशाना साधा था। मल्लिका ने अपने फेसबुक पेज पर इस पर पोस्ट लिख कर अपनी नाराज़गी जताई थी। मल्लिका ने पीएम को संबोधित करते हुए यह तक लिखा था कि आपको शर्म आऩी चाहिए। लेकिन बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने ट्विटर के ज़रिए दावा किया है कि मृणालिनी साराभाई के निधन के दिन ही पीएमओ ने उनके बेटे कार्तिकेय देसाई को संवेदना प्रकट करते हुए पत्र लिखा था। ये पत्र गुरुवार को भेजा गया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक कार्तिकेय देसाई ने कहा है कि उनके पास मां के निधन पर कई शोक संदेश और पत्र आए हैं, जिन्हें वे अभी तक पढ़ नहीं पाए हैं।   

 कैलाश विजयवर्गीय ने मल्लिका साराभाई पर निशाना साधते हुए शनिवार को कई ट्वीट किए। उन्होंने लिखा कि मल्लिका को अपनी मां की मौत से ज्यादा इस बात का दुख है कि नरेंद्र मोदी ने संवेदना नहीं जताई। कैलाश के मुताबिक, "कुछ लोगों को राजनीति का बहाना चाहिये, इसके लिये वे कोई मौका चूकना नहीं चाहते, भले ही वो स्वयं के माता-पिता की मृत्यु का दुखद अवसर क्यों न हो।" कैलाश ने लिखा-"मल्लिका जी को विरोध करने की इतनी जल्दी थी की उन्होंने शोक के 13 दिन भी इंतजार नहीं किया।" एक ट्वीट में कैलाश ने कहा- "लेकिन मल्लिका साराभाई जैसों को तो केवल मोदी जी का विरोध करना है। उन्हें न तो रिश्तों की मर्यादा का ख्याल है न भारतीय परम्पराओं का।"