कादर ख़ान बोले- 'अनुपम खेर ने किया क्या है सिवाए पीएम मोदी के प्रशंसा गीत गाने के'

नई दिल्ली (30 जनवरी) :  दिग्गज चरित्र अभिनेता कादर खान ने कहा है कि इस साल पद्म अवॉर्ड्स की सूची में बॉलिवुड से जिन लोगों को जगह मिली है, उसे देखने के बाद लगता है कि अच्छा ही है मुझे ये अवॉर्ड नहीं मिला।

कादर खान ने संकेत दिया कि शायद लुटियंस दिल्ली में चक्कर काटना भी इन अवॉर्ड्स को पाने की एक वजह हो सकती है। जब कादर खान को बताया गया कि इस साल बॉलिवुड से किन्हें किन्हें पद्म अवॉर्ड मिले तो 79 वर्षीय कादर खान ने कहा, अच्छा ही हुआ उन्होंने मुझे पद्मश्री नहीं दी। मैंने कभी जीवन में किसी की चापलूसी नहीं की। ना ही कभी करूंगा। मुझे इस तरह के अवॉर्ड्स नहीं चाहिए, अगर वो इंडस्ट्री से ऐसे लोगों को दिए जाते हैं, जैसे कि इस बार दिए गए।

फिल्म इंडस्ट्री से इस बार पद्म अवॉर्ड्स विजेताओं की सूची में रजनीकांत, अनुपम खेर, मधुर भंडारकर, प्रियंका चोपड़ा, अजय देवगन, उदित नारायण आदि के नाम हैं। कादर खान पिछले साल अक्टूबर में डायबिटीज़ से जुड़ी बीमारियों की वजह से अस्पताल में इलाज करा चुके हैं। उन्हें बोलने में अब भी दिक्कत होती है। कादर खान ने कहा, "अवॉर्ड कोई बड़ी चीज़ नहीं होती। अहमियत इस बात की होती है कि ये किन लोगों को दिया जाता है। पहले इन अवॉर्ड्स में कुछ ईमानदारी होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब लोग दूसरों का सम्मान करना भूल गए हैं और बहुत ही खुदगर्ज़ हो गए हैं। हो सकता है कि इस साल मैं इस अवार्ड पाने की योग्यता नहीं रखता हूं। लेकिन मैं उन सभी लोगों का शुक्रगुज़ार हूं जिन्होंने अवॉर्ड के लिए मेरे नाम का प्रस्ताव किया था।"  

 

कादर खान ने अदाकारों को राजनीति में कूदने से बचने की भी नसीहत दी। कादर खान ने कहा," मैं सभी अदाकारों से अपील करना चाहूंगा कि वो राजनीति से लौट आएं। लौट आओ, राजनीति तुम्हारी मंज़िल नहीं है। ये सिर्फ आपको तोड़ेगी।"  

 

कादर खान विशेष तौर पर अनुपम खेर को इस साल पद्म भूषण दिए जाने पर असहज दिखाई दिए। कादर खान ने कहा कि उन्होंने किया ही क्या है सिवाए नरेंद्र मोदी का प्रशंसागान करने के? कादर खान ने कहा कि मैं उन्हें सरकार की ओर से अवॉर्ड दिए जाने पर सवाल नहीं उठा रहा हूं। लेकिन मैं सिर्फ जानना चाहता हूं कि अवॉर्ड पाने के कौन से मापदंड हैं जिनकी मुझमें कमी है (अवॉर्ड पाने के लिए)। कादर खान ने ये भी कहा कि लोगों का प्यार ही उनके लिए सबसे बड़ा सम्मान है।