काबुल: बुर्का पहने हमलावर ने खुद को उड़ाया, 80 मरे

नई दिल्ली (23 जुलाई): अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल में शनिवार को हुए दो आत्‍मघाती बम धमाकों में 80 लोगों की मौत हो गई। रिपोर्टों के मुताबिक, कई लोग घायल हुए हैं जिनमें कइयों की हालत गंभीर बनी हुई है।

हमलावरों की तादाद तीन बताई जा रही है, इनमें से एक बुर्का पहने हुए था जिसने भीड़ में घुसकर खुद को उड़ा लिया। रिपोर्टों के मुताबिक, ये बम धमाके एक रैली को निशाना बनाकर किए गए। देश के अल्‍पसंख्‍यक शिया हजारा समुदाय के लोगों ने विरोध प्रदर्शन के लिए इस रैली का आयोजन किया था। रैली में सैकड़ों लोग जुटे हुए थे।

टोलो न्‍यूज के मुताबिक, सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि 80 लोगों के मरने की आशंका है। घायलों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बम धमाके काबुल के देमाजांग सर्कल इलाके में हुए जहां पर विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। रिपोर्टों में आत्‍मघाती हमलावरों की तादाद तीन बताई गई है।

इनमें कहा गया कि एक हमलावर ने जहां विस्‍फोट कर खुद को उड़ा लिया वहीं दूसरा अपने आत्‍मघाती जैकेट में विस्‍फोट कराने में नाकाम रहा। तीसरे को अधिकारियों ने मार गिराया। अधिकारियों ने यह भी कहा कि एक आत्‍मघाती हमलावर बुर्का पहने हुए था और प्रदर्शनकारियों के बीच खड़े होकर उसने खुद को उड़ा लिया। इस दौरान यहां हजारों प्रदर्शनकारी इकट्ठा थे। ये सभी एक पावर लाइन प्रोजेक्ट का विरोध कर रहे थे।

पावर लाइन प्रोजेक्ट का विरोध करने के लिए इकट्ठा थे लोग... - भीड़ में तीन हमलावर मौजूद थे। इनमें से एक ने खुद को उड़ा लिया। - दूसरे की सुसाइड बेल्ट में खराबी आने की वजह से एक्सप्लोजन नहीं हुआ। - तीसरे हमलावर को सिक्युरिटी गार्ड्स ने मार गिराया। - प्रर्दशकारी TUTUP पावर लाइन का कर रहे थे विरोध - 500 किलोवॉट पावर लाइन तुर्कमेनिस्तान, उज्बेकिस्तान और ताजिकिस्तान से अफगानिस्तान और पाकिस्तान को जोड़ेगी। - हजारा माइनॉरिटी के लोग इस प्रोजेक्ट का विरोध कर रहे थे। यह पावर लाइन बामियान प्रॉविन्स से होकर गुजरनी है।