17 साल के नाबालिग शूटर पर 50 हजार का इनाम

नई दिल्ली (2 मई): दिल्ली में गुनाह की दुनिया में जिसने चंद महीनों में अपना नाम कर लिया। दिल्ली पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए इनाम रखा पचास हजार। 17 साल की उम्र में उसके ऊपर कई क्रिमिनल केस है, वो छोटा गैंगस्टर अब दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में है और उसकी गिरफ्तारी से खुला है दिल्ली में नाबालिग शूटर्स के इस्तेमाल का जाल।

दिल्ली में नाबालिग शूटर्स का इस्तेमाल गैंगवार के लिए हो रहा है।  दिल्ली पुलिस को सिर्फ खबर मिल रही थी, लेकिन जब से 17 साल का शूटर दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया तो शक यकीं में बदल गया और सामने आया दिल्ली में पनपते गुनाह में नए तरह के एक्सपेरीमेंट का सच। इस सच की शुरुआत होती है 20 दिसंबर 2015 से। इस सीसीटीवी फुटेज में दिल्ली के छावला इलाके में हुआ एक मर्डर कैद हो गया। मर्डर करने वाला इलाके का नामी बदमाश ऩफे मंत्री था, जिसने दूसरे बदमाश कपिल सांगवान के बहनोई की सरेराह हत्या की थी।

कपिल ने बदला लेने के लिए अपने साथ मिलाया एक नाबालिग शूटर को, जिसने नफे मंत्री के घर जाकर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। इस हमले में नफे के पिता मारे गए। गुनाह की दुनिया में एंट्री के बाद नाबालिग आगे बढ़ना चाहता था। इसलिए उसने छावला इलाके में 2-3 महीनों में ही कई वारदात कर डाली और पुलिस की हिट लिस्ट में वो टॉप पर आ गया।

दिल्ली पुलिस के लिए सिरदर्द बना नाबालिग शूटर अब पुलिस की गिरफ्त में है, लेकिन सवाल ये गुनाह की दुनिया में नाबालिगों के इस्तेमाल की जो शुरुआत हुई है, उससे कैसे निबटेगी दिल्ली पुलिस।