जस्टिस ढींगरा ने सौंपी रिपोर्ट, कहा- गड़बड़ी न होती तो 182 पेज की रिपोर्ट न देता...

नई दिल्ली (31 अगस्त) : जस्टिस ढींगरा कमीशन ने आज अपनी रिपोर्ट हरियाणा सरकार को सौंप दी है। जस्टिस ढींगरा ने कहा कि रिपोर्ट की जानकारी सार्वजनिक नहीं कर सकता। सरकार चाहेगी तो रिपोर्ट सार्वजनिक करेगी। उन्होंने कहा कि जमीन सौदे में कई अनियमित्तताएं हैं। गड़बड़ी न होती तो 182 पेज की रिपोर्ट नहीं बनती। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट में गड़बड़ी करने वालों के नाम हैं।

बताया जा रहा है कि जस्टिस ढींगरा की 182 पेज की रिपोर्ट दो भागों में है। हरियाणा में जमीन घोटाले की जांच के लिए 14 मई 2015 को बनाया जस्टिस ढींगरा कमीशन का गठन किय गया था। यह कमीशन हरियाणा खासतौर पर गुरुग्राम और आसपास की जमीनों के आवंटन की जांच के लिए बनाया गया था।

सूत्रों के मुताबिक इस रिपोर्ट में कई प्रभावशाली लोगों को नियमों की अनदेखी कर फायदा पहुंचाने की बात कही गई है। माना जा रहा है कि इस रिपोर्ट के आधार पर रॉबर्ट वाड्रा और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडा समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हो सकता है।