नहीं रहीं बेटियों को हक दिलाने वाली जज लीला सेठ

नई दिल्ली (6 मई): दिल्‍ली हाई कोर्ट की पहली महिला जज और जानेमाने लेखक विक्रम सेठ की मां लीला सेठ का निधन हो गया है। 86 साल की उम्र में लीला सेठ ने दिल्‍ली स्थित अपने घर पर अंतिम सांस थी। उनकी इच्‍छा के अनुसार, उनके पार्थिव शरीर को वैज्ञानिक शोध के लिए प्रयोग किया जाएगा।


लीला सेठ देश के किसी भी हाईकोर्ट की मुख्य मुख्य न्यायाधीश बनने वाली पहली महिला थी। 1978 में लीला सेठ दिल्‍ली हाई कोर्ट की पहली महिला जज बनी थीं। 1991 में उन्‍हें हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट का चीफ जस्टिस नियुक्‍त किया गया, वह इस पद पर काबिज होने वाली पहली महिला बनीं। लीला सेठ हिंदू उत्‍तराधिकार कानून में बदलाव कराने में प्रमुख रूप से शामिल रहीं, जिसके जरिए बेटियों को पारिवारिक संपत्ति में हिस्‍से का अधिकार मिला था।