मेरा काम वापस दें या सजा दें: सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए जस्टिस कर्णन ने कहा


नई दिल्ली(31 मार्च): अवमानना केस का सामना कर रहे कलकत्ता हाईकोर्ट के जस्टिस सीएस कर्णन शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए।


-  उन्होंने कोर्ट से कहा, "मेरा ज्यूडिशियल कामकाज बहाल करें या सजा दें।"


- हालांकि, कोर्ट ने उनकी मांग खारिज कर दी और चार हफ्ते में अपना जवाब पेश करने को कहा।


- बता दें कि जस्टिस कर्णन ने कुछ जजों के करप्ट होने का आरोप लगाया था। सुप्रीम कोर्ट ने इसे अदालत की अवमानना माना था।


- सुप्रीम कोर्ट की सात जजों की कॉन्स्टीट्यूशनल बेंच ने कर्णन की मांग पर यह भी कहा है कि वो या तो माफी मांगे या आरोपों का सामना करें।


- कोर्ट की ओर से अपनी मांग खारिज होने पर जस्टिस कर्णन ने फिर सख्त बयान दिया।


- न्यूज एजेंसी ने उनसे सवाल किया कि क्या उन्हें सुप्रीम कोर्ट की कॉन्स्टिट्यूशनल बेंच के खिलाफ कोई एक्शन लेने का हक है, तो उन्होंने कहा, "हां मैं करूंगा।"


- उन्होंने कहा कि वो सातों जजों के खिलाफ एक ऑर्डर पास करने जा रहे हैं।